Search
Close this search box.

रामगढ़ : डबल मर्डर मामले में सिविल कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा,10 हज़ार जुर्माना

रामगढ़ : डबल मर्डर मामले में सिविल कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा,10 हज़ार जुर्माना

Join Us On

रामगढ़ : डबल मर्डर मामले में सिविल कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा,10 हज़ार जुर्माना

रामगढ़ : डबल मर्डर मामले में सिविल कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा,10 हज़ार जुर्माना


रामगढ़। भुरकुंडा डबल मर्डर केस मामले में रामगढ़ सिविल कोर्ट ने सजा के बिंदु पर अपना फैसला को सुना दिया है। मामले में आरोपी राजा चौधरी को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। साथ ही उसे 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश आलोक दुबे की अदालत ने शुक्रवार को इस फैसला को सुनाया है।

क्या है मामला

जानकारी के मुताबिक भुरकुंडा ओपी के सेंट्रल सौंदा बी टाइप क्वार्टर में 3 वर्ष पहले सहारा के एजेंट कमलेश नारायण शर्मा एवं उनकी पती चंचला देवी की हत्या मामले में – राजा चौधरी नामक अपराधी को अदालत ने आईपीसी की धारा 302 के तहत 14 मई 2024 को दोषी कर दिया था। पतरातु (भुरकुंडा) थाना कांड 184/21 में यह फैसला सुनाया है।

अपराधियों ने घर में घुसकर की थी दंपति की हत्या

लोक अभियोजक परमानंद यादव ने बताया कि 16 अक्टूबर 2021 को भुरकुंडा ओपी क्षेत्र के सेंट्रल सौंदा बी टाइप क्वार्टर में सहारा के एजेंट और कांग्रेसी नेता कमलेश नारायण शर्मा और उनकी पत्नी चंचला देवी पर अपराधियों ने घर में घुसकर जानलेवा हमला किया था। इस वारदात में कमलेश नारायण शर्मा की घटना स्थल पर ही मौत हो गई थी। उनकी पती चंचला देवी ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ा था। इस मामले में कमलेश नारायण शर्मा के छोटे भाई जयेन्द्र कुमार शर्मा के बयान पर प्राथमिक के दर्ज की गई थी। जांच के दौरान पुलिस ने चार अपराधियों को इस मामले में अभियुक्त बनाया। जिसमें सायल निवासी राजा चौधरी, विजय चौधरी, राहुल चौधरी और राम अचल शामिल थे। ट्रायल के दौरान राहुल चौधरी की मौत हो गई। साक्ष्य के अभाव में विजय चौधरी और राम अचल को अदालत ने बरी कर दिया। आठ गवाहों और पुलिस की जांच के आधार पर राजा चौधरी को दोषी करार दिया गया था।

राजा चौधरी पर कमलेश शर्मा की वजह से लगा था चोरी का आरोप

पुलिस की जांच और गवाहों के आधार पर राजा चौधरी पर बकरी चोरी का आरोप लगा था। इस मामले में साथल निवासी राजा चौधरी जेल भी गया था। पुलिस की जांच में यह भी कहा गया है कि राजा चौधरी को ऐसा लगता था कि चोरी के यह आरोप कमलेश नारायण शर्मा के इशारे पर लगाए गए थे। बदले की भावना से जी रहे राजा ने कमलेश नारायण शर्मा पर हमला करने की योजना बनाई और 15 अक्टूबर 2021 की रात वह उनके घर में घुस गया। जब कमलेश नारायण शर्मा अपनी पत्नी चंचला देवी के साथ सो रहे थे। इसी दौरान उसने धारदार हथियार से उन पर हमला किया। 16 अक्टूबर 2021 की सुबह पर वालों ने कमलेश नारायण शर्मा और उनकी पती चंचला देवी को खून से लथपथ उनके कमरे में ही पाया था।

बड़ी खबर : Summer vacation : स्कूलों में गर्मी छुट्टी को लेकर फिर से नया आदेश जारी

Slide Up
x

Leave a Comment