JTET : जुलाई के पहले सफ्ताह से भरा जाएगा जेटेट का आवेदन, शिक्षक बनने के लिए पास होना जरूरी

JTET : जुलाई के पहले सफ्ताह से भरा जाएगा जेटेट का आवेदन, शिक्षक बनने के लिए पास होना जरूरी

Join Us On

JTET : जुलाई के पहले सफ्ताह से भरा जाएगा जेटेट का आवेदन, शिक्षक बनने के लिए पास होना जरूरी

JTET : जुलाई के पहले सफ्ताह से भरा जाएगा जेटेट का आवेदन, शिक्षक बनने के लिए पास होना जरूरी

सात साल बाद झारखंड में इस वर्ष JTET की परीक्षा होने वाली है। झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेटेट) का आवेदन जुलाई के पहले सफ्ताह से शुरू हो सकती है और सितंबर में परीक्षा ली जायेगी। जिसकी तैयारी अंतिम चरण में है। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग और जैक के पदाधिकारियों के बीच हुए बैठक में जुलाई से इसकी प्रक्रिया शुरू करने का निर्णय लिया गया। झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) ने आवेदन जमा लेने की तैयारी को लगभग पूरी कर ली है। जैक द्वारा जल्दी ही इस सम्बंध में दिशानिर्देश जारी किया जाएगा।

ऑनलाइन जमा होंगे आवेदन

JTET का आवेदन ऑनलाइन जमा होगा। जिसके लिए जैक द्वारा पोर्टल तैयार की जा रही है। सम्भवतः जुलाई के प्रथम सफ्ताह से आवेदन भरने की प्रक्रिया JAC Board द्वारा शुरू की जा सकती है।

ये है जरूरी आहर्ता

JTET EXAM संशोधित नियमावली के अनुसार होगा। JTET आवेदन प्रशिक्षित शिक्षक ही भर सकते हैं।   स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के द्वारा इस नियमावली में संशोधन की गई है, जिसके अनुसार इस वर्ष परीक्षा में शामिल होनेवाले अभ्यर्थियों को उम्र सीमा में सात वर्ष की छूट दी जाएगी। नियमावली के मुताबिक पिछली और आगामी परीक्षा की अंतराल अवधि में एक वर्ष को छोड़कर अधिकतम उम्र सीमा में छूट
मिलेगी। झारखंड में इससे पहले शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ष 2016 में हुई थी। जिसके 8 वर्ष बाद परीक्षा होने जा रही है। नियमावली के प्रावधान के अनुरूप उम्र सीमा में परीक्षा के अंतराल से एक वर्ष कम यानी सात वर्ष की छूट दी जाएगी।

ढाई घंटे की होगी परीक्षा :

कक्षा एक से पांच और छह से आठ की परीक्षा अलग-अलग लिया जाएगा। अब दोनों श्रेणी की परीक्षा ढाई घंटे का होगा। पहले दोनों कोटि की परीक्षा के लिए अलग-अलग समय था। कक्षा एक से पांच के लिए पहले ढाई एवं छह से आठ के लिए तीन घंटा का समय दी गई थी। अब दोनों श्रेणी की परीक्षा के अंक में भी एकरूपता देखने को मिलेगा। अब दोनों परीक्षा 150-150 अंक का होगा। पहले कक्षा एक से पांच की परीक्षा 200 एवं छह से आठ की परीक्षा 250 अंक का होना था।

बड़ी खबर : झारखंड कैबिनेट में 40 महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी,BRP CRP और सरकारी कर्मियों को तौहफा, बिजली 200 यूनीट तक फ्री, रोजगार

Leave a Comment