पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जेल से आए बाहर,हाथ हिलाकर किया अभिवादन

Join Us On

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जेल से आए बाहर,हाथ हिलाकर किया अभिवादन

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जेल से आए बाहर,हाथ हिलाकर किया अभिवादन

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जेल से आए बाहर आ गये हैं। बतादें कि ट्रायल कोर्ट यानी रांची पीएमएलए (प्रीवेन्शन ऑफ़ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट) की विशेष कोर्ट में 50-50 हजार के दो निजी मुचलके जमा करने के बाद कोर्ट ने बेल ऑर्डर जारी की। हेमंत सोरेन के भाई व राज्य सरकार के मंत्री बसंत सोरेन और कुमार सौरव हेमंत सोरेन के बेलर बने।

उसके बाद रिलीज ऑर्डर को बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारागार भेजा गया। जिसके बाद हेमंत सोरेन जेल से बाहर आ गया हैं। जेल से बाहर आते ही उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं को हाथ हिलाकर अभिवादन किया। हेमंत सोरेन के साथ पत्नी कल्पना सोरेन, पिंटू एवं मंत्री हाफिजुल हसन भी साथ में मौजूद हैं। ज्ञात हो कि हेमंत को लैंड स्कैम के मामले में 31 जनवरी की रात को गिरफ्तार कर लिया गया था।

High Court ने बेल ऑर्डर में क्या कहा, पढ़िये पूरी Bail Order

— अभियोजन निदेशालय द्वारा याचिकाकर्ता के खिलाफ दर्ज प्रथम सूचना रिपोर्ट को प्रमुखता देने का प्रयास की गई है पर संपूर्ण मामले के परिप्रेक्ष्य में याचिकाकर्ता के समान प्रकृति का अपराध करने की संभावना नहीं है। धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 की धारा 45 के अंतर्गत निर्दिष्ट दोनों शर्तें पूरी हो चुकी हैं, इसलिए मैं इस आवेदन को स्वीकार करने के लिए प्रवृत्त हूँ। तत्पश्चात याचिकाकर्ता को 50,000/- रु (पचास हजार रुपये मात्र) के जमानत बांड एवं समान राशि के दो जमानतदारों के साथ, अतिरिक्त न्यायिक आयुक्त-I-सह-विशेष न्यायाधीश, पीएमएलए, रांची की संतुष्टि के लिए, ECIR केस नंबर 06/2023, जो ECIR/RNZO/25/2023 दिनांक 26.06.2023 से उत्पन्न हुआ है, में जमानत पर रिहा की या जा ता है।

बतादें कि इससे पहले गुरुवार (13) जून को हुई सुनवाई में ईडी और बचाव पक्ष की ओर से हाईकोर्ट में हेमंत की बेल पर बहस पूरी हो गई थी।कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद अपना फैसला को सुरक्षित रख लिया था। हेमंत सोरेन की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस रंगोन मुखोपाध्याय की कोर्ट में सुनवाई हुआ। हेमंत सोरेन के तरफ से देश के वरिष्ठ एडवोकेट कपिल सिब्बल एवं हाईकोर्ट के सीनीयर एडवोकेट पियूष चित्रेष ने बहस की थी। वहीं इसी केस में अफसर अली, जेएमएम नेता अंतू तिर्की, विपिन सिंह प्रियरंजन सहाय एवं इरशाद समेत अन्य 22 लोगों को भी गिरफ्तारी हुई है।

बड़ी खबर : JSSC झारखंड महिला पर्यवेक्षिका प्रतियोगिता परीक्षा ( लेडी सुपर वाइजर) के 22516 आवेदन रद्द, कहीं आपका आवेदन ….

Leave a Comment