Search
Close this search box.

सहायक प्राध्यापक बनने के लिए झारखंड पात्रता परीक्षा जल्द, नियम के प्रस्ताव को स्वीकृति

सहायक प्राध्यापक बनने के लिए झारखंड पात्रता परीक्षा जल्द, नियम के प्रस्ताव को स्वीकृति

Join Us On

सहायक प्राध्यापक बनने के लिए झारखंड पात्रता परीक्षा जल्द, नियम के प्रस्ताव को स्वीकृति

सहायक प्राध्यापक बनने के लिए झारखंड पात्रता परीक्षा जल्द, नियम के प्रस्ताव को स्वीकृति

झारखंड कैबिनेट बैठक में जेट परीक्षा आयोजन नियम के प्रस्ताव पर भी स्वीकृति दी गई है। झारखंड के विश्वविद्यालयों, कॉलेजों (अल्पसंख्यक सहित) में असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति एवं पीएचडी में नामांकन के लिए झारखंड एलिजबिलिटी टेस्ट (जेट) के माध्यम से क्वालीफाइंग टेस्ट का आयोजन होगा। जिसका आयोजन JPSC करेगी। इसके आयोजन के लिए नियम भी बनाए गए हैं।

दो पेपर की होगी परीक्षा, कुल 300 अंकों की होगी परीक्षा

इसके अंतर्गत अभ्यर्थियों की योग्यता, उम्र, क्वालीफाइंग का मार्क्स तय कर दी गई है। यह परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट आधारित होगा। टेस्ट दो पेपर का लिया जाएगा। जिसमें पहला पेपर 100 अंकों का होगा और कुल 50 प्रश्न पूछे जाएंगे। वहीं दूसरा पेपर 200 अंकों का होगा जिसमें 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर के लिए दो अंक मिलेंगे

राजकीय, निजी एवं पीपीपी मोड पर चल रहे इंजीनियरिंग कॉलेजों में बीटेक एवं बीई कोर्स में एडमिशन के लिए सरकार हर वर्ष 30,000 रुपए की प्रोत्साहन राशि छात्राओं को देगी। प्रारम्भ में योजना का लाभ 1200 छात्राओं को मिलेगा। इसके लिए छात्राओं को राज्य के विद्यालय से 10वीं और संस्थानों से डिप्लोमा, डी. वोकेशनल, बीएससी पास करना जरूरी होगा। इन सब योजनाओं के लिए सरकार पर कुल 8.1 करोड़ रुपए का बोझ बढ़ेगा।

झारखंड कैबिनेट की बैठक में सीएम चंपाई सोरेन ने 25 बड़ी प्रस्तावों पर लगाई मुहर, होगा जेट का आयोजन

बड़ी खबर : झारखंड सहायक नियुक्ति परीक्षा में सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई, झारखंड सरकार से मांगा जवाब

x

Leave a Comment