Search
Close this search box.

JSSC पेपरलीक मामले में झारखंड विधानसभा का अधिकारी शामिल,ब्लैंक चेक, मोबाइल और भी एडमिट कार्ड बरामद

JSSC CGL प्रश्न लीक मामला : 27 लाख में नौकरी फिक्स,खेला का हुआ भंडाफोड़

Join Us On

JSSC पेपरलीक मामले में झारखंड विधानसभा का अधिकारी शामिल,ब्लैंक चेक, मोबाइल और भी एडमिट कार्ड बरामद

JSSC पेपरलीक मामले में झारखंड विधानसभा का अधिकारी शामिल,ब्लैंक चेक, मोबाइल और भी एडमिट कार्ड बरामद

JSSC पेपर लीक मामले में एसआईटी को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पेपर लीक मामले में झारखंड विधानसभा के अधिकारी भी शामिल है। एसआईटी टीम ने झारखंड विधानसभा के एक अवर सचिव सहित तीन लोगों को अरेस्ट किया है। जिन लोगों को अरेस्ट किया गया है उनके पास से कई कागजातों के अलावा विभिन्न लोगों का ब्लैंक चेक भी बरामद की है।
रांची के सीनियर एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने कहा कि पेपर लीक मामले में लगातार कारवाई की जा रही है। मामले में झारखंड विधानसभा के अफसर का महत्वपूर्ण भूमिका सामने आई है।जिनके खिलाफ कई सबूत भी पुलिस को मिले हैं। और पूरे नेटवर्क तक पहुंचने के लिए छापेमारी अभी भी जारी है। सभी पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ लगातार की जा रही है।

अवर सचिव मो शमीम और उनके दो बेटे पेपर लीक में शामिल

जेएसएससी पेपर लीक मामले की जांच कर रही एसआईटी टीम ने बताया कि झारखंड विधानसभा के अवर सचिव मो शमीम के बारे में यह पुख्ता सबूत मिली थी कि वह एवं उसके दो बेटे पेपर लीक मामले में संलिप्त हैं। जिसके बाद एसआईटी ने उनपर लगातार नजर रखे हुए थी। सूचना कन्फर्म होने पर एसआईटी के द्वारा शमीम के कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान शमीम के ठिकानों से कई अभ्यर्थियों के द्वारा दिये गए ब्लैंक चेक, दर्जनों एडमिट कार्ड के साथ-साथ और कई मोबाइल फोन भी मिली है।

अबतक दो दर्जन से अधिक लोग हिरासत में

झारखंड सामान्य स्नातक योग्यताधारी संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा 2023 (जेएसएससी) प्रश्न पत्र लीक मामले रांची पुलिस ने अबतक दो दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है।चेन्नई के अलावा झारखंड विधानसभा के अवर सचिव मो शमीम और उसके दो बेटों को गिरफ्तार करने के बाद एसआईटी को बड़ी सफलता मिली है। जिसके बाद कई बड़े नेताओं के भी नाम इस केस में सामने आ सकते है। इस मामले में अबतक रांची एसएसपी ने चार अलग अलग टीमें बनाई थी। उसके बाद इस मामले में दो दर्जन से ज्यादा लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई थी। जिसमें सचिवालय के अवर सचिव मो शमीम के बारे में पुलिस को सूचना मिली थी उसके बाद शमीम के साथ साथ उसके दो बेटों को भी एसआईटी ने गिरफ्तार किया है।

बड़ी खबर : झारखंड हाई कोर्ट के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने किया रद्द

x

Leave a Comment