Search
Close this search box.

प्रतियोगी परीक्षा में धांधली व पेपर लीक पर 10 वर्ष की जेल और 1करोड़ का जुर्माना

प्रतियोगी परीक्षा में धांधली व पेपर लीक पर 10 वर्ष की जेल और 1करोड़ का जुर्माना

Join Us On

प्रतियोगी परीक्षा में धांधली व पेपर लीक पर 10 वर्ष की जेल और 1करोड़ का जुर्माना

प्रतियोगी परीक्षा में धांधली व पेपर लीक पर 10 वर्ष की जेल और 1करोड़ का जुर्माना

लोकसभा में सोमवार को प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी से निपटने के प्रावधान वाला लोक परीक्षा (अनुचित साधनों का निवारण) विधेयक, 2024 पेश किया गया। जिसमें परीक्षाओं में अनियमितताओं से संबंधित अपराध के लिए तीन से पांच साल तक की जेल एवं 10 लाख तक जुर्माना लगेगा।

वहीं संगठित अपराध के मामलों में 10 साल तक का जेल एवं एक करोड़ रुपये तक जुर्माने का प्रावधान है। केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने विधेयक को पेश किया। जिसमें उच्च-स्तरीय तकनीकी समिति के गठन का प्रस्ताव है, जो कि परीक्षा प्रक्रिया को और भी सुरक्षित बनाने के लिए सिफारिशें करेगी।

दायरे में आएंगी ये सभी परीक्षाएं

नए विधेयक के दायरे में यूपीएससी, एसएससी, आरआरबी, आईबीपीएस, केंद्र सरकार के विभागों एवं मंत्रालयों के अलावा उनसे संबद्ध अधीनस्थ कार्यालय में स्टाफ नियुक्ति, एनटीए एवं केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित अन्य प्राधिकरण की परीक्षाएं भी आएंगी।

JAC मैट्रिक-इंटर 2024 की परीक्षा कल से 26 तक, बनाए गए 1978 परीक्षा केंद्र

बड़ी खबर : JSSC : झारखंड में शिक्षक भर्ती के लिए 10 फरवरी को होने वाली परीक्षा के महत्वपूर्ण नोटिस जारी

x

Leave a Comment