Search
Close this search box.

बायोमैट्रिक उपस्थिति नहीं बनाने वाले 215 सहायक शिक्षकों एवं 614 सहायक अध्यापकों पर गिरी गाज, प्रपत्र क हो सकती है गठित

Join Us On

बायोमैट्रिक उपस्थिति नहीं बनाने वाले 215 सहायक शिक्षकों एवं 614 सहायक अध्यापकों पर गिरी गाज, प्रपत्र क हो सकती है गठित

हजारीबाग जिला शिक्षा अधीक्षक-सह-अतिरिक्त जिला कार्यक्रम पदाधिकारी शिक्षा ब्यवस्था को दुरुस्त करने में लगे हैं। अबतक कई शिक्षकों पर नकेल कस चुके हैं। इसी बीच उनके द्वारा जिले के वैसे सहायक शिक्षक / शिक्षिका एवं सहायक अध्यापक /अध्यापिका जो दिनांक-02.02.2024 को बायोमैट्रिक उपस्थिति नहीं बनाए हैं उनसे स्पष्टीकरण के मांगा है। और प्रपत्र क गठन सहित अनुशासनात्मक कारवाई की बात कही है। इनमें कुछ ऐसे शिक्षकों के भी सूची में नाम है जिनके उर्दू विद्यालय बन्द होने के कारण उन्होंने उपस्तिथि नहीं दर्ज की है। उर्दू स्कूल बंद होना तब भी उन शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा जाना जिसपर कई शिक्षक प्रश्न खड़े कर रहे हैं।

जारी पत्र में जिला शिक्षा अधीक्षक ने कहा है कि विभागीय सचिव के द्वारा बायोमैट्रिक उपस्थिति का अनुश्रवण करते हुए विद्यालयों में शत प्रतिशत बायोमैट्रिक उपस्थिति सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया है। साथ ही पूर्व में भी विभागीय सचिव के ज्ञापांक-262 दिनांक-07.02.2023 तथा अधोहस्तक्षरी कार्यालय के द्वारा कार्यालय ज्ञापांक 338 दिनांक-08.02.2023 में ऑनलाईन लीग मैनेजमेन्ट मॉड्यूल के द्वारा अवकाश लेने हेतु निदेश दिया गया था, किन्तु दिनांक 03.02.2024 को ई-विद्यावाहिनी में शिक्षकों द्वारा दिनाक 02.02.2024 को बनाये गए बायोमैट्रिक उपस्थिति प्रतिवेदन अवलोकन किया गया जिसमें प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों से 215 सहायक शिक्षकों एवं 614 सहायक अध्यापकों द्वारा बायोमैट्रिक उपस्थिति दर्ज नहीं किया गया है।

विदित हो कि इस संबंध में पूर्व में उपायुक्त हजारीबाग के निर्देशानुसार अनाधिकृत रूप से विद्यालयों से अनुपस्थित रहनेवाले एवं बायोमैट्रिक उपस्थिति नहीं बनाने वाले 64 शिक्षकों/सहायक अध्यापकों को इस संबंध में चेतावनी दी गई थी। अधोहस्ताक्षरी के द्वारा भी इस संबंध में बार-बार चेतावनी दी जाती रही है, बावजूद इसके दिनाक 02.02.2024 को बनाये गए बायोमैट्रिक उपस्थिति का प्रतिवेदन अवलोकन किया गया, जिसमें प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों से 215 सहायक शिक्षकों एवं 614 सहायक अध्यापकों द्वारा बायोमैट्रिक उपस्थिति दर्ज नहीं किया गया है।

यह घोर लापरवाही अनुशासन हीनता, मनमानीपन है अधोहस्ताक्षरी, वरीय पदाधिकारियों एवं विभागीय सचिव महोदय के आदेश की स्पष्ट अवहेलना है।

तीन के अंदर मांगा गया स्पष्टीकरण

आगे कहा है कि अतः क्यों नहीं आप सभी सहायक शिक्षकों को विभागीय कार्रवाई के अधीन रखते हुए प्रपत्र क गठित किया जाय। तीन दिनों के अंदर संबंधित प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी के माध्यम से अपना स्पष्टीकरण कार्यालय को अचूक रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्वित करेंगे, अन्यथा की स्थिति में स्वयं जिम्मेवार होंगे।

साथ ही आगे कहा कि क्यों नहीं आप सभी सहायक अध्यापकों को सहायक अध्यापक नियमावली 2021 के सुसंगत प्रावधानों के अधीन विभागीय अनुशासनिक कार्रवाई के अधीन रखते हुए संबंधित अनुशासनिक प्राधिकार को आवश्यक अनुशासनिक कार्रवाई हेतु भेजा जाय। तीन दिनों के अंदर संबंधित प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी के माध्यम से अपना स्पष्टीकरण कार्यालय को अचूक रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे, अन्यथा की स्थिति में स्वयं जिम्मेवार होंगे।

देखें किन किन शिक्षकों से मांगा गया स्पष्टीकरण, लिस्ट के लिए Download button पर क्लिक करें

Noti

 

बड़ी खबर : झारखंड के प्रारंभिक विद्यालयों में सहायक शिक्षक के रिक्त पदों की मांगी गई विवरणी

x

Leave a Comment