Search
Close this search box.

सता पक्ष के मैराथन बैठक में नहीं पहुंचे 4 विधायक, सहमति पत्र में विधायकों ने किया हस्ताक्षर

सता पक्ष के मैराथन बैठक में नहीं पहुंचे 4 विधायक, सहमति पत्र में विधायकों ने किया हस्ताक्षर

Join Us On

सता पक्ष के मैराथन बैठक में नहीं पहुंचे 4 विधायक, सहमति पत्र में विधायकों ने किया हस्ताक्षर

राँची के कांके रोड स्थित मुख्यमंत्री आवास में आयोजित सत्ता पक्ष के मंत्री एवं विधायक दल की बैठक मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन अध्यक्षता में हुआ।

बैठक में इडी के किसी भी करवाई निपटने को लेकर प्लान-बी तैयार किया गया। और बैठक में बिना नाम के घोषणा के ही वहां मौजूद सभी विधायकों से एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर लिया गया है। सहमती पत्र में बिना किसी का नाम लिए यह अंकित किया गया है कि सियासी संकट की स्थिति में अपने उत्तराधिकारी के रूप में हेमंत सोरेन जिसे भी अधिकृत करेंगे, सभी विधायक उनका पूरा समर्थन करेंगे।

आज के बैठक में कुल 44 विधायक उपस्तिथ रहे जिनका सहमति पत्र लिया गया। वहीं महागठबंधन के 4 विधायक बैठक में उपस्थित नहीं रहे। जिसमें विधायक लोबिन हेम्ब्रेम, सीता सोरेन, चमरा लिंडा और रामदास सोरेन शामिल हैं।

बताया जा रहा है कि यदि कल पूछताछ के दौरान यदि इडी मुख्यमंत्री को गिरफ्तार करती है तो सत्तारुढ़ दल इस प्लान को आगे बढ़ाएंगे। और हेमंत सोरेन के उत्तराधिकारी के रूप में उनकी पत्नी कल्पना सोरेन, छोटे भाई एवं दुमका विधायक बसंत सोरेन या फिर वरीय झामुमो नेता चंपाई सोरेन का नाम की चर्चा हो रही है।

साथ ही सभी विधायकों को राँची में ही रहने का निर्देश दिया गया। ताकि कभी भी विधायकों के परेड की जरूरत हो तो त्वरित हो सके। सभी विधायकों को सर्किट हाउस में ही रहने का निर्देश दिया गया है।

फिलहाल कल एक बजे से इडी सीएम हेमन्त सोरेन से पूछताछ कर सकती है। जिसके बाद ही झारखंड में उत्तराधिकारी बदलेंगे या फिर हेमन्त सोरेन ही सीएम बने रहेंगे स्तिथि सपष्ट हो सकती है।

बड़ी खबर : JSSC : झारखंड पुलिस भर्ती परीक्षा के लिए अंतिम तिथि से पहले भरें आवेदन, ये चाहिए योग्यता

x

Leave a Comment