Search
Close this search box.

हजारीबाग जिले के दो शिक्षक निलंबित, प्रबन्धन समिति भी भंग, DSE ने कार्यालय आदेश किया जारी

हजारीबाग जिले के दो शिक्षक निलंबित, प्रबन्धन समिति भी भंग, DSE ने कार्यालय आदेश किया जारी

Join Us On

हजारीबाग जिले के दो शिक्षक निलंबित, प्रबन्धन समिति भी भंग, DSE ने कार्यालय आदेश किया जारी

हजारीबाग जिले के दो शिक्षक निलंबित, प्रबन्धन समिति भी भंग, DSE ने कार्यालय आदेश किया जारी

हजारीबाग़ जिले के दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया। डीएसई हजारीबाग ने इसे लेकर कार्यालय आदेश जारी की है। जिनमे एक प्रखण्ड कटकमसांडी और एक पदमा प्रखण्ड के प्रभारी प्रधानाध्यपक शामिल हैं। वहीं विद्यालय प्रबंधन समिति को भी भंग कर दिया गया है।

 

उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हेदलाग, कटकमसांडी के प्रभारी प्रधानाध्यापक निलंबित

ज्ञापंक 252 दिनांक 27/ 01/ 2024 द्वारा जारी कार्यालय आदेश में कहा गया है कि दिनांक-12.01.2024 को गठित जांच दल के द्वारा उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हेदलाग, कटकमसांडी का स्थलीय जांच किया गया। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, पदमा के पत्रांक-31, दिनांक-17.01.2024 के द्वारा समर्पित जांच प्रतिवेदन कार्यालय को उपलब्ध कराया गया। जांच प्रतिवेदन में अंकित किया गया है कि संबंधित विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक श्री इश्वर रविदास के द्वारा विभागीय नियमों, मध्याह्न भोजन संचालन हेतु निर्गत विभागीय आदेश / निदेश तथा समग्र शिक्षा के अंतर्गत विद्यालय स्तर पर कार्य निष्पादन संबंधी निदेशों का उल्लंघन करते हुये स्वेच्छाचारित, मनमानी एवं अनुशासनहिनता बरती जा रही है।

जांच में यह भी पाया गया कि कैश बुक, पासबुक एवं बिल भाउचर विद्यालय में नहीं है तथा विद्यालय में वास्तविक उपस्थिति के विरूद्ध अधिक उपस्थिति दर्ज कर मध्याहन भोजन की राशि का दुरूपयोग किया जा रहा है एवं विद्यालय में बेंच डेस्क की राशि की निकासी के बावजूद भी बेंच डेस्क क्रय नहीं किया गया है। उक्त से प्रथम दृष्टया स्पष्ट होता है कि श्री रविदास के द्वारा वित्तीय अनियमितता भी बरती जा रही है।

इस कार्यालय के पत्रांक-181 दिनांक-20.01.2024 के द्वारा श्री इश्वर रविदास, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हेदलाग, कटकमसांडी से उक्त के संबंध में स्पष्टीकरण की मांग की गयी थी। श्री इश्वर रविदास, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हेदलाग, कटकमसांडी द्वारा समर्पित स्पष्टीकरण असंतोषजनक पाया गया।

अतः विभागीय नियमों, मध्याह्न भोजन संचालन हेतु विभागीय नियमों एवं निदेशों तथा समग्र शिक्षा के अंतर्गत विद्यालय स्तर पर कार्य निष्पादन संबंधी निदेशों का उल्लंघन करते हुये स्वेच्छाचारित, मनमानी एवं अनुशासनहिनता, वित्तीय अनियमितता बरतने, उच्चाधिकारी के आदेश के अवहेलना करने एवं सरकारी सेवक आचार नियमावली 1976 का उल्लंघन करने के आरोप में झारखंड वगर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील नियमावली 2016 में निहित प्रावधान के अंतर्गत श्री इश्वर रविदास, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हेदलाग, कटकमसांडी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुये विभागीय कार्रवाई के अधीन किया जाता है। निलंबन अवधि में श्री रविदास का मुख्यालय प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी का कार्यालय, केरेडारी निर्धारित किया जाता है। झारखंड सेवा संहिता की धारा-96 में निहित प्रावधान के अंतर्गत निलंबन अवधि में जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा। आरोप पत्र अलग से निर्गत किया जायेगा।

वहीं विद्यालय प्रबंधन समिति, उत्क्रमित मध्य विद्यालय हेदलाग, कटकमसांडी को तत्काल प्रभाव से भंग किया जाता है। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, कटकमसांडी को निदेश दिया जाता है कि तत्काल तदर्थ (Adhoc) समिति का गठन करते हुये विद्यालय में मध्याहन भोजन एवं अन्य विद्यालीय कार्यों का संचालन कराना सुनिश्चित करेंगे तथा अपने स्तर से प्रभारी प्रधानाध्यापक के कार्य हेतु प्रभार आदेश निर्गत करना सुनिश्चित करेंगे। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी-सह-प्रखंड संसाधन केन्द्र, कटकमसांडी एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, कटकमसांडी को निदेश दिया जाता है कि विद्यालय का सतत सघन निरीक्षण करते हये विद्यालय के कमियों को दूर करेंगे तथा समग्र शिक्षा की घटकों का विद्यालय स्तर पर शत प्रतिशत क्रियान्वयन कराते हुये तथा मध्याह्न भोजन योजन नियमानुसार संचालन कराना सुनिश्चित करेंगे एवं पाक्षिक कृत कार्रवाई प्रतिवेदन कार्यालय को अचूक रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।

 

उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा, के प्रभारी प्रधानाध्यापक निलंबित

वहीं ज्ञापंक संख्या 251 दिनांक 27/ 01/ 2024 द्वारा जारी कार्यालय आदेश में कहा गया है कि दिनांक-12.01.2024 को गठित जांच दल के द्वारा उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा का स्थलीय जांच किया गया। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, पदमा के पत्रांक-30, दिनांक-17.01.2024 के द्वारा समर्पित जांच प्रतिवेदन कार्यालय को उपलब्ध कराया गया। जांच प्रतिवेदन में अंकित किया गया है कि संबंधित विद्यालय के प्रमारी प्रधानाध्यापक श्री सुनिल रजक के द्वारा विभागीय नियमों, मध्याह्न भोजन संचालन हेतु निर्गत विभागीय आदेश/निदेश तथा समग्र शिक्षा के अंतर्गत विद्यालय स्तर पर कार्य निष्पादन संबंधी निदेशों का उल्लंघन करते हुये स्वेच्छाचारित, मनमानी एवं अनुशासनहिनता बरती जा रही है। जांच में यह भी पाया गया कि कैश बुक, पासबुक एवं बिल भाउचर विद्यालय में नहीं है। उक्त से प्रथम दृष्ट्या स्पष्ट होता है कि श्री रजक के द्वारा वित्तीय अनियमितता भी बरती जा रही है। इस कार्यालय के पत्रांक-183 दिनांक-20.01.2024 के द्वारा श्री सुनिल रजक, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा से उक्त के संबंध में स्पष्टीकरण की मांग की गयी थी। श्री सुनिल रजक, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा द्वारा समर्पित स्पष्टीकरण असंतोषजनक पाया गया।

अतः विभागीय नियमों, मध्याहन भोजन संचालन हेतु विभागीय नियमों एवं निदेशों तथा समग्र शिक्षा के अंतर्गत विद्यालय स्तर पर कार्य निष्पादन संबंधी निदेशों का उल्लंघन करते हुये स्वेच्छाचारित, मनमानी एवं अनुशासनहिनता, वित्तीय अनियमितता बरतने, उच्चाधिकारी के आदेश के अवहेलना करने एवं सरकारी सेवक आचार नियमावली 1976 का उल्लंघन करने के आरोप में झारखंड वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील नियमावली 2016 में निहित प्रावधान के अंतर्गत श्री सुनिल रजक, प्रभारी प्रधानाध्यापक, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुये विभागीय कार्रवाई के अधीन किया जाता है। निलंबन अवधि में श्री रजक का मुख्यालय प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी का कार्यालय, कटकमसांडी निर्धारित किया जाता है। झारखंड सेवा संहिता की धारा-96 में निहित प्रावधान के अंतर्गत निलंबन अवधि में जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा। आरोप पत्र अलग से निर्गत किया जायेगा।

विद्यालय प्रबंधन समिति, उत्क्रमित मध्य विद्यालय, कुटीपीसी, पदमा को तत्काल प्रभाव से भंग किया जाता है। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, पदमा को निदेश दिया जाता है कि तत्काल तदर्थ (Adhoc) समिति का गठन करते हुये विद्यालय में मध्याह्न भोजन एवं अन्य विद्यालीय कार्यों का संचालन कराना सुनिश्चित करेंगे तथा अपने स्तर से प्रभारी प्रधानाध्यापक के कार्य हेतु प्रभार आदेश निर्गत करना सुनिश्चित करेंगे। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी-सह-प्रखंड संसाधन केन्द्र, पदमा एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, पदमा को निदेश दिया जाता है कि विद्यालय का सतत सघन निरीक्षण करते हुये विद्यालय के कमियों को दूर करेंगे तथा समग्र शिक्षा की घटकों का विद्यालय स्तर पर शत प्रतिशत क्रियान्वयन कराते हुये तथा मध्याहन भोजन योजन नियमानुसार संचालन कराना सुनिश्चित करेंगे एवं पाक्षिक कृत कार्रवाई प्रतिवेदन कार्यालय को अचूक रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।

बड़ी खबर : JPSC ने डीएसपी,डीएसई सहित अन्य अधिकारी रैंक के 342 पदों पर निकाली भर्ती, उम्र में मिलेगी छूट

x

Leave a Comment