Search
Close this search box.

अयोध्या से लौटने पर पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए की बड़ी घोषणा, करोड़ो लोगों को मिलेगा लाभ

अयोध्या से लौटने पर पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए की बड़ी घोषणा, करोड़ो लोगों को मिलेगा लाभ

Join Us On

अयोध्या से लौटने पर पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए की बड़ी घोषणा, करोड़ो लोगों को मिलेगा लाभ

अयोध्या से लौटने पर पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए की बड़ी घोषणा, करोड़ो लोगों को मिलेगा लाभ

अयोध्या से लौटने पर पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए की बड़ी घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर में भगवान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा करने के बाद एक बड़ी सोलर योजना की घोषणा किया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या मे रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर उनका यह संकल्प एवं प्रशस्त हुआ कि देशवासियों के घरों के छत पर उनका सोलर सिस्टम हो।

पीएम मोदी की घोषणा के अनुसार एक करोड़ घरों में एक योजना के तहत रूफटॉप सोलर लगाया जाएगा।

पीएम मोदी ने क्या कुछ कहा ?

पीएम मोदी ने अपने सोमवार (22 जनवरी) को अपने आधिकारिक X हैंडल से कहा, ”सूर्यवंशी भगवान श्री राम के आलोक से विश्व के सभी भक्तगण सदैव ऊर्जा को प्राप्त करते हैं। आज अयोध्या में प्राण-प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर मेरा ये संकल्प और भी प्रशस्त हुआ कि भारतवासियों के घर की छत पर उनका अपना सोलर रूफ टॉप सिस्टम हो ”

उन्होंने कहा, ”अयोध्या से लौटने के बाद मैंने यह पहला निर्णय लिया है कि हमारी सरकार 1 करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर लगाने के लक्ष्य के साथ “प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना” प्रारंभ करेगा। इससे गरीब एवं मध्यम वर्ग का बिजली बिल तो कम होगा ही, साथ ही भारत ऊर्जा के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनेगा।”

https://x.com/narendramodi/status/1749415140662055073?s=09

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद पीएम मोदी क्या बोले ?

पीएम मोदी ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा को एक नए युग के आगमन को प्रतीक करार दिया है एवं लोगों से अगले 1000 वर्षों के मजबूत, भव्य एवं दिव्य भारत की नींव बनाने का आह्वान किया।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद ‘सियावर रामचंद्र की जय’ एवं ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यह अवसर केवल जीत का नहीं बल्कि विनम्रता का भी है।

उन्होंने कहा कि राम मंदिर समृद्ध एवं विकसित भारत के उदय का गवाह बनेगा। प्रधानमंत्री ने संतों, नेताओं, उद्योगपतियों, फिल्मी सितारों, कवियों, साहित्यकारों एवं खिलाड़ियों की एक चुनिंदा सभा को संबोधित करते हुए बताया, ‘‘हमें आज से, इस पवित्र समय से अगले 1,000 साल के भारत की नींव भी रखनी है। मंदिर निर्माण से आगे बढ़कर हम सभी देशवासी इस पल से समर्थ, सक्षम, भव्य, दिव्य भारत के निर्माण का सौगंध लेते हैं।’’

इससे पूर्व पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद को लेकर चले मुकदमे पर 2019 में उच्चतम न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले से संभव हुए भव्य राम मंदिर के गर्भगृह के अंदर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भाग ली।

पीएम मोदी ने अपने 36 मिनट के भाषण में कहा कि, ‘‘22 जनवरी 2024 का यह सूरज एक अद्भुत आभा लेकर आया है व यह कैलेंडर पर लिखी एक तारीख नहीं, बल्कि एक नए कालचक्र का भी उद्गम है। हमारे रामलला अब टेंट में नहीं, हमारे रामलला अब इस दिव्य मंदिर में रहेंगे। मेरा पक्का विश्वास एवं अपार श्रद्धा है कि जो घटित हुआ है, इसकी अनुभूति देश के, विश्व के कोने-कोने में रामभक्तों को अवश्य हो रही होगी।’’

उन्होंने इस क्षण को आलौकिक एवं पवित्रतम बताते हुए बताया कि, ‘‘आज मैं प्रभु श्री राम से क्षमा याचना भी करता हूं, हमारे पुरुषार्थ में कुछ तो कमी रह गई होगी , हमारी तपस्या में भी कुछ कमी रही होगी कि हम इतने सदियों तक मंदिर निर्माण नहीं कर पाए… आज वह कमी पूरी हुई।

बड़ी खबर :झारखंड में 26 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा के लिए भरे गए 13 हज़ार 72 आवेदन रद्द, जल्दी करें चेक

x

Leave a Comment