Search
Close this search box.

हजारीबाग में नकली पुलिस बनकर सोने के गहने उतरावाए और 20 ग्राम का कंगन कर दिया गायब

हजारीबाग में नकली पुलिस बनकर सोने के गहने उतरावाए और 20 ग्राम का कंगन कर दिया गायब

Join Us On

हजारीबाग में नकली पुलिस बनकर सोने के गहने उतरावाए और 20 ग्राम का कंगन कर दिया गायब

हजारीबाग में नकली पुलिस बनकर सोने के गहने उतरावाए और 20 ग्राम का कंगन कर दिया गायब

हजारीबाग कोर्रा थाना क्षेत्र में एक महिला से कुशल झांसा देने वाले दो ठगों ने उसके सोने के कंगन को लेकर धोखाधड़ी किया। जिसका मामला कोर्रा पुलिस ने दर्ज कर ली है। पीड़िता उर्मिला देवी ने कहा कि उसे एक युवक ने बनाए गए झांसे के तहत सोने के कंगनों को लेकर धोखा दिया गया।

फिल्मी स्टाइल में महिला से ठगी

महिला ने बताया कि वह 14 जनवरी को अपराह्न 12.30 बजे मकर संक्रांति को लेकर चूड़ा, गुड़ तिलकुट आदि लाने जा रही थी। इसी दौरान एक लंबा चौड़ा युवक पहुंचा और उसने कहा कि पदमा से बड़ा बाबू आए हैं। वे किसी शिक्षक का पता जानना चाहते हैं। तब महिला ने कहा कि वह पदमा के बारे में कुछ भी नहीं जानती है। इसके बाद वह युवक उन्हें पकड़ रांची-पटना रोड पार कराकर उक्त कथित पदाधिकारी के पास ले गया। वहां पहुंचते ही कथित पदाधिकारी ने बढ़ते चोरी और छिनतई का भय दिखाया। फिर कहा कि इतना महंगा जेवर पहन कर चलती हो। अभी जेवर पहनने का समय नहीं है। चोर उचक्के और बदमाश इस जेवर के कारण उनकी जान ले सकते हैं। इसी दौरान एक मोटरसाइकिल से युवक पहुंचा।

उसने उन्हें कागज में अंगूठी या कोई सामान दिया। इसके बाद उक्त कथित पदाधिकारी ने महिला को एक कागज का पैकेट दिया। जिसमें जेवर सुरक्षित रखने को कहा। इसी बातचीत के दौरान उक्त ठगो ने उनका सोने का कंगन गायब कर दिया, जो 20 ग्राम का था।

घर वापस आने पर महिला ने खुद को रिलाक्स करते हुए कागज को खोला और देखा कि उसके सोने के कंगनों की जगह लोहे के कंगन रखे गए हैं। पीड़िता ने तत्काल कोर्रा थाना में शिकायत दर्ज कराई और पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जाँच शुरू कर दी है।

कोर्रा थाना प्रभारी निशि कुमारी ने मामले के संबंध में बताया कि पुलिस त्वरित ही अपराधियों की तलाश में है और उन्हें गिरफ्तार करने के लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने जनता से अपराधियों की पहचान में सहयोग करने के लिए अपील की है ताकि वे जल्दी से गिरफ्तार किए जा सकें।

इस मामले के बाद लोगों में सुरक्षा उपायों की दिशा में जागरूकता बढ़ाने की मांग की जा रही है और स्थानीय प्रशासन ने भी बचाव के लिए सख्त कदम उठाने का वादा किया है।

बड़ी खबर : झारखंड के अस्थाई कर्मियों के लिए खुशखबरी,4 माह के अंदर होंगे नियमित, हाइकोर्ट ने सुनाया बड़ा निर्णय

x

Leave a Comment