Search
Close this search box.

झारखंड में बनेंगे छह कॉरिडोर, पर्यटन स्थल की बढ़ेगी कनेक्टिविटी

झारखंड में बनेंगे छह कॉरिडोर, पर्यटन स्थल की बढ़ेगी कनेक्टिविटी

Join Us On

झारखंड में बनेंगे छह कॉरिडोर, पर्यटन स्थल की बढ़ेगी कनेक्टिविटी

झारखंड में बनेंगे छह कॉरिडोर, पर्यटन स्थल की बढ़ेगी कनेक्टिविटी

झारखंड में छह कॉरिडोर का निर्माण होगा। जिसमें चार एक्सप्रेस- वे कॉरिडोर एवं दो टूरिस्ट कॉरिडोर होंगे। पथ निर्माण विभाग इस दिशा में तेजी से कार्रवाई शुरू कर दी है। जिसका सर्वे करा लिया गया है और एलाइनमेंट लगभग तय की जा रही है। जिसके लिए डीपीआर तैयार
कराये जा रहे हैं। सड़क बनने से राज्य की कनेक्टिविटी और बेहतर होगा और पर्यटन स्थलों को भी बढ़ावा मिलेगा।

ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर के अंतर्गत एनएच 75 पर मुरीसेमर (यूपी बॉर्डर) से सड़क का निर्माण होगा, जो चतरा, बरही, बेंगाबाद, मधुपुर, सारनाथ,पालाजोरी होते हुए दुमका तक जाएगा इसके बन जाने से मुरीसेमर से दुमका की दूरी 117 किमी घट जायेगी। यह भी प्रयास किया जा रहा है कि इसका अधिकतर पार्ट ग्रीन फील्ड होगा यानी कि नयी सड़क बनेगी। इसके बन जाने से कम से कम समय एवं इंधन से एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में सफर कर सकते हैं।

वहीं झारखंड इस्टर्न कॉरिडोर के अंतर्गत साहिबगंज से जामताड़ा, निरसा, सिंदरी, चंदनकियारी एवं चांडिल तक सड़क बनेगी। साहिबगंज से चांडिल की दूरी करीब 126 किमी घट जाएगी। इससे आवागमन और भी सरल हो जायेगा। यह ज्यादातर ग्रीनफील्ड एरिया ही होगा।

वहीं नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर के अंतर्गत झुमरी तिलैया (एनएच 31) से विष्णुगढ़, पेटरवार, कसमार, बरलंगा, सिल्ली, रड़गांव, सरायकेला होते हुए सड़क चाईबासा तक सड़क बनेगी। ऐसे में झुमरीतिलैया से चाईबासा की दूरी 79 किमी कम होने का अनुमान है। इसके अंतर्गत सफर भी पहले की तुलना में काफी कम समय में होगा।

इसके अलावा झारखंड सेंट्रल कॉरिडोर में रांची के कांठीटांड़ से कार्य शुरू होगा, जो ठाकुरगांव, बुदमू, टंडवा, चतरा, हंटरगंज होते हुए बिहार के डोभी तक जाएगी। इस तरह रांची से डोभी जाने में अभी की तुलना में करीब 50 किमी की यात्रा घट जाएगी। सभी का डीपीआर तैयार हो रहा हैं।

इन पर्यटन स्थलों में मिलेगी बढ़ावा

सिल्ली-रंगामाटी रोड पर मिलन चौक से सारजामडीह, तमाड़, खूंटी, गोविंदपुर, सिसई, घाघरा, नेतरहाट, गारू, सरयू, लातेहार, हेरहंज, बालूमाथ, मैक्लुस्कीगंज होते हुए चामा मोड़ तक टूरिस्ट सर्किट बनेगा। इस सड़क से कई टूरिस्ट प्लेस भी जुड़ेंगे।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह कार्य की जा रही है। वहीं बिरसा, लुंगुबुरू, पारसनाथ, बाबाधाम होली कॉरिडोर तैयार होगा। जिसके अंतर्गत रांची से ओरमांझी, गोला, रजरप्पा, लुगुपहाड़ी, पैक, डुमरी, गिरिडीह से देवघर तक कॉरिडोर बनेगा। इसे भी टूरिस्ट सर्किट का मूर्तरूप दिया जाएगा। इन दोनों टूरिस्ट सर्किट का भी डीपीआरओ बन रहा है।

बड़ी खबर : झारखंड के आंगनबाड़ी केंद्रों में निकली सेविका सहायिका की सीधी भर्ती, दसवीं पास करें आवेदन

x

Leave a Comment