Search
Close this search box.

झारखंड के सरकारी विभागों में साढ़े तीन लाख पद खाली, इस विभाग में सबसे ज्यादा

Join Us On

झारखंड के सरकारी विभागों में साढ़े तीन लाख पद खाली, इस विभाग में सबसे ज्यादा

झारखंड के सरकारी विभागों में साढ़े तीन लाख पद खाली, इस विभाग में सबसे ज्यादा

झारखंड के सरकारी विभागों विभिन्न वर्गों के लिए स्वीकृत नियमित पदों में से साढ़े तीन लाख पद खाली हैं। सबसे ज्यादा रिक्त पद शिक्षा विभाग में खाली है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षकों सहित अन्य कर्मचारियों के रिक्त पड़े पद सरकार के कुल खाली पदों का लगभग 60.97 % है।

प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में खाली पड़े इन पदों के मद्देनजर राज्य में प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा के स्तर का आकलन कर सकते हैं। वहीं दूसरा सबसे ज्यादा रिक्त पद विधि व्यवस्था को नियंत्रित करनेवाला गृह विभाग में हैं।

वेतन भते पर सालाना 16000 करोड़ राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में विभिन्न स्तर के कुल 5,33,737 पद स्वीकृत हैं। इस स्वीकृत पदों के मुकाबले 1,83,016 पदों पर ही कर्मचारी कार्यरत हैं। शेष 3,50,721 पद अब भी रिक्त हैं। सरकार में नियमित पदों पर कार्यरत कर्मचारियों के वेतन भत्ते पर सालाना करीब 16000 करोड़ रुपये का खर्च कर रही है। नियुक्तियों के बाद प्रोन्नति आदि के लिए सरकार के स्वीकृत पदों के मुकाबले 25 प्रतिशत तक पदों को खाली रखने की आवश्यकता बतायी जाती है क्योंकि सभी पदों को एक साथ भरने पर प्रोन्नति के लिए जगह नहीं बचेगा। इस बात के मद्देनजर सरकार अब भी 1.50 लाख पदों को भरने पर विचार कर सकती है। हालांकि इन पदों को भरने पर नव नियुक्त कर्मचारियों के वेतन भत्ते पर अतिरिक्त 10 हजार करोड़ रुपये से भी अधिक खर्च करने की आवश्यकता पड़ेगी।

गृह विभाग में 76 हजार लोग ही हैं कार्यरत : सरकार के कुल रिक्त पदों में से सबसे अधिक पद शिक्षा के क्षेत्र में ही हैं । प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षकों सहित अन्य सभी प्रकार के कुल 2,64,547 पद स्वीकृत की गई हैं। इन स्वीकृत पदों के मुकाबले सिर्फ 50,703 कर्मचारी ही कार्यरत हैं, यानि कुल रिक्त पदों में से 60.97 प्रतिशत पद शिक्षा के क्षेत्र में ही रिक्त हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक प्राथमिक शिक्षा और साक्षरता के क्षेत्र में कुल स्वीकृत 1,81,834 पदों के मुकाबले में 41,718 कर्मचारी ही कार्यरत हैं। बानी 1,40,116 पद अब रिक्त हैं, जो कुल रिक्तियों का 39.95 प्रतिशत है।

माध्यमिक शिक्षा के क्षेत्र में स्वीकृत 82,841 पदों के मुकाबले 9021 पद पर ही कार्यरत हैं, यानि 73,820 पद रिक्त हैं, जो हैं, जो कुल रिक्त पदों का 21.04 % है। रिक्तियों के मामले में दूसरा स्थान गृह विभाग का है. गृह विभाग के कुल स्वीकृत 1.39 लाख पदों के मुकाबले 76 हजार लोग ही यहां कार्यरत हैं। शेष 63 हजार पद रिक्त रह गए हैं यह कुल रिक्तियों का 18.12 % है।

बड़ी खबर : झारखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी,नए साल में दसवीं पास से स्नातक तक के लिए निकली भर्ती

x

Leave a Comment