Search
Close this search box.

एमएसीपी लागू करने तथा उत्क्रमित वेतनमान बहाल की मांग

एमएसीपी लागू करने तथा उत्क्रमित वेतनमान बहाल की मांग

Join Us On

एमएसीपी लागू करने तथा उत्क्रमित वेतनमान बहाल की मांग

एमएसीपी लागू करने तथा उत्क्रमित वेतनमान बहाल की मांग

राँची : पूरे सेवाकाल में महज के अदद प्रोन्नति का बाट जोहते हुए सेवानिवृत्त हो रहे प्राथमिक शिक्षक और छठे पुनरीक्षित उत्क्रमित वेतनमान को लागू करने को लेकर सोमवार को झारखंड प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ का एक प्रतिनिधिमंडल प्राथमिक शिक्षा निदेशक और अवर सचिव से मिलकर मांग पत्र सौंपा।

प्राथमिक शिक्षा निदेशक को प्रतिनिधियों ने बताया कि सातवें वेतन आयोग के बाद शिक्षकों को प्रोन्नति के बाद ग्रेड पे होने वाली वृद्धि को समाप्त कर दिया गया है। जिससे लगभग 20 वर्षों की सेवा के बाद भी शिक्षकों का कोई वेतन उन्नयन नहीं हो पाता है ‌। ऐसी स्थिति में प्राथमिक शिक्षकों को भी एम सी पी का लाभ दिया जाए।

2014 में उत्क्रमित वेतनमान पर लगे रोक को प्रतिनिधियों ने प्राथमिक शिक्षक निदेशक मैम को बताया कि उस समय किस तरह से शिक्षकों के साथ गलत हुआ है ‌।अब माननीय उच्च न्यायालय ने भी सचिव, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को 2 महीने के अंदर रिप्रेजेंटेशन देने को कहा है। इसे विभाग को शिक्षकों के हित में निर्णायक कदम उठाने का आग्रह किया। स्वास्थ्य विभाग के तर्ज़ पर प्राथमिक शिक्षकों के लिए भी द्वितीय और चतुर्थ शनिवार को छुट्टी देने।

विभिन्न ग्रेडों में शिक्षकों के प्रोन्नति और दिसंबर 2004 के पूर्व प्रकाशित विज्ञापन वाले नियुक्त शिक्षक जो पुरानी पेंशन से आच्छादित होते हैं,उनका आवेदन पेंशन एवं लेखा विभाग को भेजने का आग्रह किया। निदेशक मैम ने पुरानी पेंशन का फार्म तुरंत पेंशन निदेशक को भेजने का आदेश दीं तथा एम ए सी पी में शिक्षकों की संख्या बड़ी तादाद में होने के कारण समस्या की बात कहीं। किंतु आश्वस्त की कि इसे उचित फोरम पर रखने का प्रयास रहेगा

। उत्क्रमित वेतनमान पर कोर्ट का निर्देश देखकर कार्रवाई की बात कहीं । प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष शैलेंद्र सुमन, महासचिव प्रेम प्रसाद राणा, सचिव मुमताज अहमद शामिल थे।

बड़ी खबर : झारखंडभर के स्कूलों में आचार्य नियोजन के लिए 21 को होगी परीक्षा

x

Leave a Comment