Search
Close this search box.

राज्य कर्मी का दर्जा देने, महंगाई को देखते हुए अनुदान की राशि चौगुना करने सहित अन्य मांग को लेकर विधानसभा के बाहर धरना

Join Us On

राज्य कर्मी का दर्जा देने, महंगाई को देखते हुए अनुदान की राशि चौगुना करने सहित अन्य मांग को लेकर विधानसभा के बाहर धरना

राज्य कर्मी का दर्जा देने, महंगाई को देखते हुए अनुदान की राशि चौगुना करने सहित अन्य मांग को लेकर विधानसभा के बाहर धरना

राज्य कर्मी का दर्जा देने, महंगाई को देखते हुए अनुदान की राशि चौगुना करने, वित्तीय वर्ष 2020-21 के बचे हुए स्कूल- कॉलेजों को अनुदान की राशि अभिलंब निर्गत करने की मुख्य मांग को लेकर वित्त रहित शिक्षा संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने आज विधानसभा के सामने विशाल धरना दिया।

विशाल धरना में हजारों शिक्षक एवं शिक्षाकेक्तर कर्मी भाग लिए।

शिक्षक कर्मी नारा लगा रहे थे कि बिहार के तर्ज पर वित रहित स्कूल कॉलेज के शिक्षक कर्मियों को राज्य कर्मी का दर्जा दिया जाए। महंगाई को देखते हुए विभागीय प्रस्ताव पर मंत्री के अनुमोदन के पश्चात संलेख बनाकर अभिलंब मंत्री परिषद को सहमति के लिए भेजी जाए।

शिक्षको के सेवानिवृत्ति की आयु छत्तीसगढ़ के तर्ज पर 62 वर्ष की जाए ।

धरना मे संस्कृत शिक्षक पीला वस्त्र पहन कर आए थे। और मदरसा शिक्षक टोपी पहने हुए थे ।

धरना स्थल पर माननीय विधायक विनोद सिंह, अमित कुमार यादव और मनीष जायसवाल आए ।

और विशाल धरना को संबोधित किया।

तीनों विधायकों ने कहा कि आपकी मांगे जायज है ।

जब सरकार सदन में आश्वासन दी है तो उसे पूरा करें ।

तीनों विधायकों ने कल शून्य काल में इस मामले को जोरदार ढंग से उठाने का आश्वासन दिए।

इन विधायकों ने कहा कि जब चौगुना अनुदान पर विभागीय मंत्री का अनुमोदन हो चुका है तो कैबिनेट क्यों नहीं सरकार भेज रही है।

आज राजभर के शिक्षक धरना और प्रदर्शन के लिए सड़क पर हैं। सरकार इन संगठनों से वार्ता कर समस्या का हल करें।

अगर शिक्षक ही सड़क पर है तो यहां की बच्चों का क्या भविष्य होगा।

विशाल धरना को कुंदन कुमार सिंह, रघुनाथ सिंह, देवनाथ सिंह, हरिहर प्रसाद कुशवाहा, फजलुल कादरी अहमद, अरविंद सिंह ,नरोत्तम सिंह, मनीष कुमार ,अनिल तिवारी, संजय कुमार ,गणेश महतो, वीरेंद्र तिवारी, मनोज सिंह, बिरसो उराव, सोनी कुमारी, रघु विश्वकर्मा, दिलीप घोष ने संबोधित किया।

सभी वक्ताओं ने कहा कि जब तक सरकार राज्य कर्मी का दर्जा नहीं देगी। संघर्ष जारी रहेगा। महा धरना की अध्यक्षता सुरेंद्र झा ने किया और संचालन अनिल तिवारी ने किया।

बड़ी खबर : झारखंड में बुधवार को इस जिले में लगने वाला है रोजगार मेला,कंप्यूटर ऑपरेटर सहित इन पदों पर होगी भर्तियां

x

Leave a Comment