Search
Close this search box.

छह फरवरी से मैट्रिक इंटर की परीक्षा ,मॉडल सेट अबतक जारी नहीं, सभी स्कूलों में सिलेबस भी नहीं हुआ पुरा

JAC के नौंवी और 11 वीं बोर्ड परीक्षा का तिथि घोषित, प्रत्येक विषय में 40 अंको के पूछे जाएंगे प्रश्न

Join Us On

छह फरवरी से मैट्रिक इंटर की परीक्षा ,मॉडल सेट अबतक जारी नहीं, सभी स्कूलों में सिलेबस भी नहीं हुआ पुरा

छह फरवरी से मैट्रिक इंटर की परीक्षा ,मॉडल सेट अबतक जारी नहीं, सभी स्कूलों में सिलेबस भी नहीं हुआ पुरा

मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा अगले साल 6 फरवरी से शुरू होगी। जैक के द्वारा इसका शिड्यूल पिछले माह ही जारी कर दिया गया है। अब इसका संशोधित शिड्यूल भी जारी की जाएगी। जिसमें परीक्षा के पैटर्न में किए गए बदलाव के आधार पर ही शिड्यूल होगा। छात्र छात्राओं के पास अब दो महीने से भी कम समय बचे हैं पर सभी स्कूलों में अब तक सिलेबस (पाठ्यक्रम) पूरा नहीं हुआ है। सभी विषयों के दो से तीन चैप्टर अभी भी शेष बचे हुए हैं। कई स्कूलों व कॉलेजों के शिक्षकों ने बताया कि 15 जनवरी तक पाठ्यक्रम पूरा कर ली जाएगी। सिलेबस पूरा होने के बाद छात्र-छात्राओं को रिविजन के लिए समय नहीं के बराबर मिल पाएगा। ऐसे में छात्र-छात्रा पर अतिरिक्त बोझ पड़ना तय है।

परीक्षार्थियों के लिए नया शेड्यूल भी परेशानी का सबब बन गया है। जुलाई-अगस्त से लेकर नवंबर तक आधे प्रश्न ऑब्जेक्टिव एवं आधे सब्जेक्टिव के आधार पर पढ़ाई हुई। यहां तक कि साप्ताहिक व मंथली एसेसमेंट में भी इसी आधार पर प्रश्न पूछे गए थे। परीक्षा के शिड्यूल के साथ ही इसमें भी बदलाव किया गया है। इसमें अब 30 अंक के ऑब्जेक्टिव एवं 50 अंक के सब्जेक्टिव प्रश्न होंगे। स्कूल व कॉलेज अब इस महीने से ऐसी व्यवस्था के आधार पर पठन-पाठन करा रहे हैं। वहीं, जेसीईआरटी द्वारा भी इसी आधार पर ही मॉडल प्रश्न भी उपलब्ध कराएगी।

अगले सफ्ताह जारी होंगे मॉडल प्रश्न पत्र

मैट्रिक व इंटरमीडिएट का म़ॉडल प्रश्न पत्र अगले सप्ताह तक जैक जारी होने की उम्मीद है। झारखंड शैक्षणिक अनुसंधान व प्रशिक्षण परिषद ( JCERT ) की ओर से इसे तैयार की जा रही है।।जेसीईआरटी जैक को इसे उपलब्ध कराएगा। जिसके बाद जैक मॉडल सेट को जारी करेगा। इसमें बदले गए पैटर्न के आधार पर ही प्रश्न दिए जाएंगे और इसी आधार पर ही छात्र-छात्रा तैयारी भी कर सकें। मॉडल प्रश्न पत्र के साथ उसका एंशर भी साथ में जारी किया जाएगा।

इधर सरकार की ओर से मैट्रिक-इंटरमीडिएट की परीक्षा पद्धति में बदलाव के बाद स्कूलों के शिक्षक बच्चों को लिखने पर जोर दे रहे हैं। छात्रों को स्कूल के साथ-साथ घर पर ज्यादा से ज्यादा लिखने एवं समय सीमा निर्धारित कर लिखने को कहा जा रहा है। कई स्कूल कोर्स पूरा कराने के लिए एक्सट्रा क्लास ली जाने की भी तैयारी कर रहे हैं। कई निर्धारित समय से एक घंटा पूर्व या एक घंटा अतिरिक्त क्लास भी लेना शुरू कर दी है।

बड़ी खबर : झारखंड के सरकारी स्कूलों में महिला शिक्षकों की होगी भर्ती, लास्ट डेट है नजदीक ,जल्दी करें आवेदन

x

Leave a Comment