Search
Close this search box.

शादी के दिन उठा दादा का अर्थी,आने वाला था बारात, लडकी का शादी हुआ ससुराल में

Join Us On

शादी के दिन उठा दादा का अर्थी,आने वाला था बारात, लडकी का शादी हुआ ससुराल में

शादी के दिन उठा दादा का अर्थी,आने वाला था बारात, लडकी का शादी हुआ ससुराल में

हजारीबाग : जिले में टाटीझरिया प्रखण्ड में बड़ी घटना घटी जहां खुशी का महौल गम में बदल गया है।

टाटीझरिया प्रखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत डुमर के गांव बेडम से यह घटना सामने आया है। पोती के विवाह के दिन शनिवार को ही दादा की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार सेवानिवृत्त चौकीदार बुलाकी मंडल (85 वर्ष) के घर में पोती की शादी थी, जिसके चलते पूरा परिवार, रिश्तेदार सहित अन्य शादी-समारोह की तैयारियों में लगे हुए थे, लेकिन अचानक ही शनिवार सुबह ही बुलाकी मंडल की मौत हो गई।

परिवार में अचानक हुए इस हादसे से पूरा परिवार सदमे में है। परिजन एक-दूसरे को सांत्वना दे रहे हैं, लेकिन परिजनों के चेहरों पर दुख की छाया देखी जा सकती है। घर में शनिवार को बारात आनी थी और उसी दिन दादा की अंतिम संस्कार किया गया। घर में मातम छाया हुआ है।

स्थिति को देखते हुए बुलाकी मंडल की पोती प्रीति कुमारी पिता सरयू प्रसाद को शादी के लिए दूल्हे का घर टंडवा प्रखंड के बरकुट्टे भेज दिया गया। जहां उसकी शादी प्रज्ञा केंद्र संचालक नितेश कुमार पिता लालदेव साव से होनी है।

बुलाकी मंडल की सबसे छोटी पोती प्रीति ने इस दर्द के बारे में बताया कि दादा उसकी शादी से बहुत खुश थे। बुधवार को लग्नबंधी, गुरूवार को मंडवा घृतढारी, शुक्रवार को हल्दी की रस्म अदायगी में दादा ने उसके और परिजनों के साथ खूब मौजमस्ती किया। आज बारात आनी थी और उनकी मौत हो गई। यह दर्द असहनीय है।

बुलाकी मंडल बगोदर थाना में चौकीदार थे। वह अपने पीछे पत्नी जमुनी, पांच बेटे युगलप्रसाद, माथुर प्रसाद, जीवाधन प्रसाद, सरयू प्रसाद, राजेंद्र प्रसाद व भरापूरा परिवार छोडकर गयें हैं। प्रीति के शादी के दिन अचानक दादा की मौत का गम से क्षेत्रवासियों ने गहरा शोक प्रकट किया है।

बड़ी खबर : झारखंड प्राइवेट स्कूल संगठन के सदस्यों ने अस्पताल पहुंचकर जाना बच्चों का हाल

x

Leave a Comment