Search
Close this search box.

झारखंड के अनुबंधकर्मियों का प्रदर्शन, उमड़ी भीड़ ,हेमंत सरकार से ये है मांग

झारखंड के अनुबंधकर्मियों का प्रदर्शन, उमड़ी भीड़ ,हेमंत सरकार से ये है मांग

Join Us On

झारखंड के अनुबंधकर्मियों का प्रदर्शन, उमड़ी भीड़ ,हेमंत सरकार से ये है मांग

झारखंड के अनुबंधकर्मियों का प्रदर्शन, उमड़ी भीड़ ,हेमंत सरकार से ये है मांग

झारखंड के राजभवन के समक्ष सोमवार को अनुबंधकर्मियों ने जोरदार प्रदर्शन किया। सीएम हेमंत सोरेन से सेवा नियमितीकरण समेत 11 सूत्री मांगों को लेकर अनुबंधकर्मियों ने यह विरोध प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका, जल सहिया, स्वास्थ्य सहिया समेत अन्य अनुबंधकर्मी प्रदर्शन में शामिल हुए। इन्होंने सरकार से आग्रह करते हुए मांग किया कि उन्हें वादे के अनुसार सुविधाएं दी जाएं। अनुबंधकर्मियों में बड़ी संख्या में महिलाएं पहुंची थीं।

अनुबंधकर्मियों ने सरकार पर लगाई ये आरोप

झारखंड के सभी 24 जिलों से लगभग 80 हजार आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका, 44 हज़ार स्वास्थ्य सहिया, 35 हजार जल सहिया, 4 हजार पशुपालन, 5 हजार पशुपालन कर्मी, 20 हजार लघुकर्मी और 15 हजार अनुबंध पर कार्यरत एएनएम-एमपीडब्ल्यू कर्मियों ने राजभवन के समक्ष सोमवार को धरना प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों की संख्या बहुत अधिक थी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इन्होंने चुनावी वादों को लेकर अपनी मांगों को लेकर इन्होंने विरोध प्रदर्शन किया।

सहियाओं ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सरकार बनने से पहले वादा किया था कि 1 हजार मानदेय बढ़ाकर 18 हजार कर दिया जाएगा पर मानदेय बढ़ाने की जगह इसे घटा कर प्रोत्साहन राशि में बदल दी गई। जो तय भी नहीं है। कैबिनेट के फैसले के मुताबिक हमें मोबाइल एवं ड्रेस मिलना चाहिए था पर न तो हमें मानदेय मिला और न ही कोई और सुविधाएं मिली।

ये है 11 सूत्री प्रमुख मांगें

11 सूत्री मांगों को लेकर सहिया समेत अन्य ने सोमवार को जोरदार प्रदर्शन की और सरकार से वादा पूरा करने की मांग की। अनुबंध पर कार्यरत 1 लाख कर्मियों को सेवा नियमित करने, 45 महीने का बकाया मानदेय देने, 1 हजार मानदेय के बदले 18 हजार मानदेय देने की बात कही थी। अब केवल प्रोत्साहन राशि ही मिल रही है।

बड़ी खबर : स्नातक पास हैं तो SBI Clerk के पदों पर नियुक्ति के लिए खुशखबरी : झारखंड के लिए 165 और बिहार के लिए 415 पद , ये है लास्ट डेट

x

Leave a Comment