Search
Close this search box.

एकलव्य स्कूलों में जनजातीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती

एकलव्य स्कूलों में जनजातीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती

Join Us On

एकलव्य स्कूलों में जनजातीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती

एकलव्य स्कूलों में जनजातीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की होगी भर्ती

एकलव्य स्कूलों में जनजातीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की भर्ती होगी। जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने बताया कि देशभर में जनजातीय और क्षेत्रीय भाषा के 38 हजार शिक्षकों की भर्ती जल्द होगी। इसकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा झारखंड के रामगढ़ में यह बात कही। कहा कि देशभर में जनजातीय और क्षेत्रीय भाषा के 38 हजार शिक्षक जल्द बहाली होगी। वे शुक्रवार को झारखंड के रामगढ़ के रजरप्पा प्रखंड के सुकरीगढ़ा स्थित डॉ एस राधाकृष्णन शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय में आयोजित तीन दिनी शिल्प प्रदर्शनी सह जागरुकता कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए खम

अर्जुन मुंडा ने बताया कि भारत 2047 में आजादी का 100वां वर्ष मनाने की भी तैयारी में है। ऐसे में विकसित भारत का सपना साकार करने के लिए सरकार कई कार्यक्रमो को चला रही है। उन्होंने प्रशिक्षुओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए उनसे भविष्य में बेहतर नागरिक बनने का भी आह्वान किया। ज्ञात हो कि इस कॉलेज में चल रही शिल्पकला प्रदर्शनी में लोकल फॉर वोकल के तहत जूट, टेराकोटा, ढोकरा, सोहराय पेंटिंग, बॉस क्राफ्ट शिल्पकारी संचालित की जा रही है।संचालन सहायक प्राध्यापक नयन कुमार मिश्रा ने किया।

मौके पर जनआकांक्षा सोसाइटी के सचिव मणिकांत सिन्हा, महाविद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष रितेश कुमार, सचिव संजय कुमार प्रभाकर, मनीष कुमार मुंडा एवं प्राचार्य डॉ शिव कुमार राणा मौजूद थे।

कुछ दिनों पहले अर्जुन मुंडा ने कहा था कि देश में जल्द ही 401 नए एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय भी खुलने जा रहे हैं।

बड़ी खबर : डीएलएड या बीएड हैं तो आपके लिएखुशखबरी: पूरे झारखंड में निकली PGT और TGT शिक्षक भर्ती

x

Leave a Comment