Search
Close this search box.

अपने शौर्य व सेवा की बदौलत ध्येय वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य को चरितार्थ कर रहा है सीमा सुरक्षा बल : अमित शाह

अपने शौर्य व सेवा की बदौलत ध्येय वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य को चरितार्थ कर रहा है सीमा सुरक्षा बल : अमित शाह

Join Us On

अपने शौर्य व सेवा की बदौलत ध्येय वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य को चरितार्थ कर रहा है सीमा सुरक्षा बल : अमित शाह

अपने शौर्य व सेवा की बदौलत ध्येय वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य को चरितार्थ कर रहा है सीमा सुरक्षा बल : अमित शाह

1 दिसंबर 2023 को सीमा सुरक्षा बल ने 59वें स्थापना दिवस के अवसर पर बीएसएफ प्रशिक्षण केंद्र और स्कूल मेरु कैंप हज़ारीबाग (झारखंड) में औपचारिक परेड का आयोजन किया। इस अवसर पर सीमा प्रहरियों ने राष्ट्र और इसके आदर्श वाक्य “जीवन पर्यन्त कर्तव्य” के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

झारखंड के हज़ारीबाग में पहली बार उत्साह और उल्लास के समृद्ध पारंपरिक माहौल में बीएसएफ स्थापना दिवस परेड का आयोजन किया गया है।

माननीय केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने मुख्य अतिथि के रूप में परेड की सलामी ली। परेड के दौरान, सीमा सुरक्षा बल की विभिन्न सीमाओं से आयी टुकड़ियों ने सीमा प्रहरियों की वीरता, गाथा और राष्ट्र के प्रति प्रतिबद्धता का प्रदर्शन करते हुए मार्च किया।

परेड में महिला प्रहरी टुकड़ी, सजे-धजे अधिकारी और सैनिक, प्रसिद्ध ऊंट टुकड़ी और ऊंट बैंड, घुड़सवार टुकड़ियां, डॉग स्क्वाड और संचार टुकड़ी सहित 12 पैदल टुकड़ियों का मार्च पास्ट शामिल था। टीएसयू, सेनवॉस्टो, आईसीटी, एयर विंग और बीआईएएटी की झांकियां प्रदर्शित की गईं।

समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल अपने शौर्य और बलिदान की बदौलत ध्येय वाक्य “जीवन पर्यंत कर्तव्य’ को चरितार्थ कर रहा है। बल के जवानों ने-0 डिग्री टेंपरेचर से लेकर 45 डिग्री टेंपरेचर के असामान्य हालात में भी असाधारण वीरता का परिचय देते हुए देश की सीमाओं की सुरक्षा कर रहा है। भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमा भी बीएसएफ के पोस्ट के कारण सुरक्षित है।

पाक बांग्लादेश की दुर्गम सीमा पर प्रहरी की मुस्तैदी से दुश्मनों के नापाक इरादों को नाकाम किया है। उन्होंने कहा कि सीमा सुरक्षा बल की सजकता की वजह से देश की सीमाएं सुरक्षित है। उन्होंने परेड के शानदार प्रदर्शन तथा भारत की पहली रक्षा पंक्ति के रूप में बीएसएफ की भूमिका की सराहना की।

उन्होंने भारत सरकार द्वारा सेनाओं में लागू किये गये कल्याणकारी उपाय,विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं के दौरान कर्मियों के योगदान और बलिदान के बारे में बात की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत सरकार इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

इस अवसर पर, सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक, नितिन अग्रवाल ने देश की सेवा में सर्वोच्च बलिदान देने वाले सभी बहादुरों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने बीएसएफ के विभिन्न संरचनाओं और संस्थानों की उपलब्धियों पर भी जोर दिया।

माननीय मुख्य अतिथि ने बल कर्मियों को वीरता के लिए पदक से सम्मानित किया। खेल और प्रशिक्षण में उत्कृष्टता के लिए अश्विनी ट्रॉफी फ्रंटियर बीएसएफ जम्मू को प्रदान की गई। मुख्य अतिथि ने बल की वार्षिक ‘बॉर्डरमैन’ पत्रिका का भी विमोचन किया। उन्होंने बीएसएफ के उन बहादुर जवानों की भूमिका को याद किया, जिन्होंने कर्तव्य निभाते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए।

मौके पर कलारीपयट्टु, मनियारो रास, बिहू नृत्य, योग, पर एक शानदार प्रदर्शन किया गया लेज़िम डांस, खरिया लोक नृत्य, मदाली डांस और जांबाज शो सीमा भवानी द्वारा प्रदर्शित किया गया। प्रहरियों ने दर्शकों से ज़ोरदार उत्साह और तालियाँ बटोरीं। परेड के दौरान एमआई-17 वी-5 बेड़े को दर्शाने वाले एयर विंग भी प्रदर्शित किए गए।
इस मौके पर मुख्य अतिथि गृह मंत्री अमित शाह के अलावा मानव संसाधन राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी, नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी, सांसद जयंत सिन्हा, सुनील कुमार सिंह, विधायक अंबा प्रसाद, जय प्रकाश पटेल, सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक नितिन अग्रवाल, उपमहानिरीक्षक प्रशिक्षण केंद्र एवं विद्यालय हजारीबाग राजेश कुमार, उपायुक्त नैंसी सहाय, आरक्षी अधीक्षक चौथे मनोज रतन सहित जिला के वरीय अधिकारी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

अपने शौर्य व सेवा की बदौलत ध्येय वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य को चरितार्थ कर रहा है सीमा सुरक्षा बल : अमित शाह

बड़ी खबर : स्थानीय को नौकरी देने में कोताही बरतने वाले हज़ारों कंपनियों को झारखंड सरकार ने भेजा नोटिस

x

Leave a Comment