Search
Close this search box.

धनतेरस आज, माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने और कुबेर की कृपा पाने के लिए ईन वस्तुओं की खरीदारी करते हैं लोग

धनतेरस आज, माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने और कुबेर की कृपा पाने के लिए ईन वस्तुओं की खरीदारी करते हैं लोग

Join Us On

धनतेरस आज, माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने और कुबेर की कृपा पाने के लिए ईन वस्तुओं की खरीदारी करते हैं लोग

धनतेरस आज, माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने और कुबेर की कृपा पाने के लिए ईन वस्तुओं की खरीदारी करते हैं लोग

आज धनतेरस है। धनतेरस कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। त्रयोदशी के दिन धन के प्रदोष काल में देवता कुबेर की पूजा की जाएगी। त्रयोदशी के दिन सोना, चांदी, वाहन, इलेक्ट्रिक सामान ,जमीन, घर आदि खरीदना सुख एवं समृद्धि का कारक माना गया है।

धनतेरस के दिन घर के दरवाजे पर स्वास्तिक का चिह्न अंकित करने से घर में सौभाग्य एवं खुशहाली आती है। इस दिन यम दीप दान करने का भी विधान है, जिससे अकाल मृत्यु का भय दूर होता है। शुक्रवार को लोग बाजार में खरीदारी के लिए निकलेंगे। वाहन, बर्तन, जेवर, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि की दुकानों में भीड़ उमड़ेगी।

माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने एवं कुबेर की कृपा पाने के लिए इन वस्तुओं की खरीदारी शुभ

पौराणिक मान्यता की माने तो कि रसोई घर में लक्ष्मी का वास माना जाता है। आज के दिन पीतल, तांबे, चांदी या मिट्टी से बने रसोई के बर्तनों के रूप में प्रयोग करने की भी परंपरा है।

* घर में धन और समृद्धि लाने के लिए आप आभूषण, सिक्के या चांदी के बर्तन की भी खरीदारी कर सकते हैं। चांदी का प्रयोग अक्सर कई धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है जो पवित्रता का प्रतीक भी है।

* धनतेरस की मुख्य परंपराओं में से एक है तेल के दीपक को जलाना

* इस शुभ दिन पर घर के लिए झाड़ू खरीदने का मतलब है कि घर से दरिद्रता दूर हो जाएगी।

* गोमती चक्र : बुरी नजर से बचने के लिए घर एवं कार्यस्थल पर गोमती चक्र रखना अनिवार्य है। ये चक्र पूरे परिवार की सफलता का भी समर्थन करते हैं।

* वहीं इलेक्ट्रॉनिक आइटम फोन, टीवी या अन्य गैजेट्स को अपग्रेड करने का भी सही समय है।

* आज स्वर्ण निर्मित शृंगार लेने एवं माता को अर्पण करने से माता ज्यादा प्रसन्न होती हैं।

* नए कपड़े नवीकरण एवं उत्सव की भावना का प्रतिनिधित्व करते हैं, क्योंकि लोग रोशनी के त्योहार को मनाने के लिए सबसे अच्छे कपड़े भी पहनते हैं।

* सोने और चांदी के सिक्कों को खरीदने की भी प्रथा है, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि यह सफलता, धन व सौभाग्य लाता है।

* धनतेरस और दिवाली में देवी-देवताओं की मूर्तियों को खरीदना एवं स्थापित करना एक आम प्रथा है और यह भक्ति, पूजा और किसी के घर में दिव्य आशीर्वाद के स्वागत का भी प्रतीक माना जाता है।

धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त

धनतेरस पर शुभ मुहूर्त में खरीदारी करना अच्छा माना गया है। पंचांग के मुताबिक धनतेरस के दिन यानी 10 नवंबर को दोपहर 12 बजकर 35 मिनट से लेकर अगले दिन यानी 11 नवंबर की सुबह तक खरीदारी करने का शुभ मुहूर्त है।

धनतेरस लक्ष्मी पूजा मुहूर्त

धनतेरस के पावन पर्व पर भगवान गणेश, मां लक्ष्मी एवं कुबेर देवता की पूजा की जाती है। धनतेरस पर लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त 10 नवंबर, शुक्रवार को शाम 05 बजकर 47 मिनट से शाम 07 बजकर 47 मिनट तक रहेगा।

बड़ी खबर : झारखंड स्थापना दिवस में मिलने वाला है कई तोहफा, सीएम ने उच्चस्तरीय बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश,शिविर में आने वाले सभी को मिलेगा एक एक पौधा भी

x

Leave a Comment