Search
Close this search box.

स्नातक के छात्रों को चौथे सेमेस्टर के बाद इंटर्नशिप करना अब अनिवार्य,रोजगार में भी होगा सहायक

Join Us On

स्नातक के छात्रों को चौथे सेमेस्टर के बाद इंटर्नशिप करना अब अनिवार्य, नहीं तो नहीं मिलेगी डिग्री

स्नातक के छात्रों को चौथे सेमेस्टर के बाद इंटर्नशिप करना अब अनिवार्य, नहीं तो नहीं मिलेगी डिग्री

स्नातक के छात्रों को अब इंटर्नशिप व रिसर्च इंटर्नशिप करना अनिवार्य हो गया। विद्यार्थियों को 60 से 120 घंटे का इंटर्नशिप करना जरूरी की गई है। यह इंटर्नशिप चौथे सेमेस्टर के बाद करनी पड़ेगी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( UGC ) ने गाइडलाइंस के लिए ड्राफ्ट तैयार की है, साथ ही शिक्षाविद, विवि व आम लोगों से इसमें किसी प्रकार के और संशोधन या दिए गए दिशा-निर्देश पर 12 नवंबर तक सुझाव भी मांगा है।

रोजगार में भी होगा सहायक

यूजीसी के सचिव प्रो मनीष जोशी के मुताबिक छात्रों को स्थानीय उद्योग, व्यवसायों, आर्टिस्ट, शिल्पकारों आदि के साथ इंटर्नशिप के अवसर मिलेंगे। जो रोजगार में भी सहायक होगा। इसे देखते हुए इंटर्नशिप का ड्राफ्ट तैयार किया गया है। इस ड्राफ्ट में स्नातक पाठ्यक्रम के लिए क्रेडिट फ्रेमवर्क के मुताबिक तीन वर्षीय डिग्री/चार वर्षीय स्नातक डिग्री ऑनर्स और चार वर्षीय स्नातक डिग्री रिसर्च के साथ ऑनर्स के विद्यार्थियों के लिए न्यूनतम 120 से 160 क्रेडिट में से न्यूनतम दो से चार क्रेडिट इंटर्नशिप के लिए दी जाएगी। इंटर्नशिप के एक क्रेडिट का यानि प्रति सप्ताह दो घंटे का कार्य होगा। इसके अनुसार 15 सप्ताह में एक क्रेडिट 30 घंटे के बराबर होगा।

वहीं चार वर्षीय स्नातक डिग्री रिसर्च के साथ ऑनर्स के लिए पूरे आठवें सेमेस्टर के दौरान 12 क्रेडिट का रिसर्च मैनेजमेंट / रिसर्च परियोजना में विद्यार्थियों की भागीदारी सुनिश्चित करनी पड़ेगी।बजब तक छात्र इसे पूरा नहीं करेंगे डिग्री नहीं मिलेगी। विद्यार्थियों को चयनित नोडल अफसर को शोध परियोजना, शोध प्रबंध, थीसिस, प्रोजेक्ट कार्य जमा करना पड़ेगा। इंटर्नशिप मुख्य रूप से ट्रेड व एग्रिकल्चर एरिया, इकोनॉमी एंड बैंकिंग फाइनांसियल सर्विस एंड इंश्यूरेंस एरिया, लॉजिस्टिक, फास्ट मोविंग कंज्यूमर गुड्स एंड रिटेल एरिया,ऑटोमोटिव एंड कैपिटल गुड्स एरिया, आइटी, हेल्थ केयर एंड लाइफ साइंस, हैंडक्राफ्ट, आर्ट एंड डिजाइन, म्यूजिक एरिया,स्पोर्ट्स विलनेस एंड फिजिकल एडुकेशन, कम्यूनिकेशन एरिया, एडुकेशन एरिया, टूरिज्म एंड हॉस्पिटेलिटी,सस्टेनबुल डेवलपमेंट एरिया, इनवायरमेंट एरिया,मशीन लर्निंग, कॉमर्स, मीडियम एंड स्मॉल स्केल इंडस्ट्रीज एरिया, आदि शामिल हैं।

बड़ी खबर : झारखण्ड शिक्षा परियोजना के आवासीय विद्यालय में शिक्षकों व रसोइया की निकली भर्ती

x

Leave a Comment