Search
Close this search box.

प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति में गैर पारा शिक्षकों की श्रेणी में आवेदन करनेवाले पारा शिक्षकों को हाइकोर्ट से मिली बड़ी राहत

Join Us On

प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति में गैर पारा शिक्षकों की श्रेणी में आवेदन करनेवाले पारा शिक्षकों को हाइकोर्ट से मिली बड़ी राहत

प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति में गैर पारा शिक्षकों की श्रेणी में आवेदन करनेवाले पारा शिक्षकों को हाइकोर्ट से मिली बड़ी राहत

 

Ranchi वर्ष 2015 के प्राथमिक शिक्षक नियुक्ति में गैर पारा शिक्षक के श्रेणी में आवेदन करने वाले पारा शिक्षकों को झारखंड के हाइकोर्ट से बड़ी राहत मिली चूंकि है. 

 

मामले के सूनवाइ में हाइकोर्ट ने राज्य सरकार की अपील पर फैसला सुनाते हुए एकल पीठ के आदेश को सही ठहराया है. 

 

कोर्ट के तरफ से कहा गया है एकल पीठ द्वारा पारित आदेश उचित है.

हाइकोर्ट के न्यायमूर्ति सुजीत नारायण प्रसाद जी की अध्यक्षतावाली खंडपीठ ने मामले में प्रतिवादी अभ्यर्थी जो पारा शिक्षक थे, लेकिन उन्होंने गैर पारा शिक्षक श्रेणी में आवेदन दिया था और वे अतिम चयनित उम्मीदवार से अधिक अंक प्राप्त किए थे ।

 

उनके लिए कोट ने अतिरिक्त काउंसिल कर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने का निर्देश दिया है.

 

राज्य सरकार के तरफ से एकल पीठ के आदेश के खिलाफ खंडपीठ में चुनौती दी गई थी 

एकल पीठ में सुनवाई के दौरान पूर्व में राज्य सरकार की तरफ से कहा गया था कि वर्ष 2015 की प्राथमिक शिक्षक में गैर पारा शिक्षक कि श्रेणी में आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए अब कोई काउंसलिंग नहीं की जाएगी.

 

प्राथमिक शिक्षकों कि नियुक्ति के लिए उनका कंसीडरेशन नहीं किया जाएगा. 

 

इस पर प्रार्थी पारा शिक्षकों की तरफ से एकल पीठ से कहा गया  कि राज्य सरकार द्वारा उन्हें नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल नहीं करने का निर्णय गलत है. 

 

हाइकोर्ट के तरफ से एकल पीठ ने राज्य सरकार के इस आदेश को गलत माना था.

हाइकोर्ट की एकल पीठ ने आदेश दिया कि वैसे पारा शिक्षक जो उक्त नियुक्ति परीक्षा में गैर पारा शिक्षक श्रेणी में आवेदन दिए थे और जिनके अंक अंतिम चयनित उम्मीदवारों से ज्यादा है उनके संबंध में उचित कार्रवाई की जाये उनके लिए अलग से काउंसलिंग की जानी चाहिए।

 

हाइकोर्ट के एकल पीठ के आदेश के खिलाफ राज्य सरकार ने खंडपीठ में अपील दायर की . 

खंडपीठ ने राज्य सरकार की अपील पर सुनवाई पूरी कर के पूर्व में आदेश सुरक्षित रख लिया था लेकिन हाइकोर्ट की खंडपीठ ने अपने आदेश में कहा था कि पारा शिक्षक जो गैर पारा शिक्षक कैटेगरी में शामिल हुए थे उन्हें नियुक्ति प्रक्रिया से बाहर करना गलत होगा। 

 

ऐसे पारा शिक्षकों ने अपने आरक्षण का लाभ नहीं लेने का निर्णय किया था. अंतिम चयनित अभ्यर्थियों से ज्यादा अंक लाने वाले प्रतिनिधियों के लिए अतिरिक्त काउंसिल की जाएगी और नियुक्ति प्रक्रिया पूरी की जायेगी. 

 

Read more: Jharkhand Bijli Vibhag Vacancy 2023, Apply Offline, Notification, Last Date

x

Leave a Comment