Search
Close this search box.

सेना में अग्निवीरो को स्थायी किए जाने का कोटा बढ़ाने की तैयारी

अग्निवीरों के बलिदान पर मिलेगी एक करोड़ ज्यादा की सहायता राशि, न्यूज एजेंसी एएनआई .

Join Us On

सेना में अग्निवीरो को स्थायी किए जाने का कोटा बढ़ाने की तैयारी

सेना में अग्निवीरो को स्थायी किए जाने का कोटा बढ़ाने की तैयारी

सेना में अग्निवीरों का कोटा अब 50 करने की तैयारी में रक्षा मंत्रालय है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार रक्षा मंत्रालय अग्निवीरों के स्थायी किए जाने के प्रतिशत को बढ़ाकर 50 करने पर विचार कर रही है।

बतादें कि पिछले साल लागू की गई अग्निवीर योजना में चार वर्ष के बाद 25 फीसदी तक जवानों को एक परीक्षण प्रक्रिया के बाद स्थायी करने का प्रावधान की गई है, जबकि शेष को एक तय राशि के साथ सेवा से अलग कर दिया जाएगा। थल, जल एवं नभ तीनों सेना में यही प्रक्रिया अपनाई गई है।

सूत्रो के मुताबिक योजना में सुधार को लेकर अनेक सुझाव सेनाओं की ओर से मिले हैं। खासकर नौसेना और वायुसेना का कहना है कि चार साल में 75 फीसदी प्रशिक्षित अग्निवीरों को घर भेजने से उसे नुकसान है, जैसे ही वे तकनीकी कार्य में दक्ष होंगे, उनका सेवाकाल ही पूरा हो जाएगा।

नौसेना और वायुसेना में ज्यादातर सैनिक तकनीक कार्य करते हैं। थल सेना में भी काफी शाखाओं में जवानों को तकनीकी कार्य करना पड़ता है। सूत्रों ने कहा कि सुझाव पर विचार की जा रही है।

सैनिकों के लिए 400 करोड़ हुआ जारी

थलसेना और रक्षा लेखा विभाग की संयुक्त पहल के बाद बड़ी संख्या में जूनियर कमीशन अधिकारियों (जेसीओ) एवं अन्य पदों के कर्मियों के 400 करोड़ रुपये के लंबे समय से लंबित दावों का निपटारा कर दिया गया। यह जानकारी सूत्रों से दी गई है।

सेना में अग्निवीरो

बड़ी खबर : क्यों याद नहीं रहता पिछला जन्म? बड़ी रोचक है इसकी वजह, जानें धार्मिक और वैज्ञानिक दृष्टिकोण

x

Leave a Comment