Search
Close this search box.

खुशखबरी : मुख्यमंत्री ने अनुदान की संचिका अनुमोदन कर आज स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को लौटाई।

खुशखबरी : मुख्यमंत्री ने अनुदान की संचिका अनुमोदन कर आज स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को लौटाई।

Join Us On

खुशखबरी : मुख्यमंत्री ने अनुदान की संचिका अनुमोदन कर  स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को लौटाई

खुशखबरी : मुख्यमंत्री ने अनुदान की संचिका अनुमोदन कर आज स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को लौटाई।

सभी इंटर कॉलेज के प्राचार्य, उच्च विद्यालय, संस्कृत विद्यालय एवं मदरसा विद्यालय के प्राचार्य तथा सभी संबंधित लोगों को सूचित किया गया है कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के अपीलीय अभ्यावेदन पर अनुदान समिति की बैठक के बाद जो अनुदान देने का निर्णय हुआ था ।

वह संचिका 19 जून से माननीय मुख्यमंत्री के पास लम्बित थी, क्योंकि संचिका अनुमोदन के लिए मुख्यमंत्री के पास गई थी । लेकिन संचिका लौट नहीं रही थी। कल दिनांक 23.07. 2023 को मोर्चा की बैठक हुई और आंदोलन का निर्णय लिया गया।समाचार पत्रों में सारे बातें छपी ।

जिसके बाद सोमवार को संचिका मुख्यमंत्री सचिवालय से अनुमोदन होकर स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग में वापस लौट गई है। चार-पांच दिनों में अनुदान की राशि जिला कोषागार में चली जाएगी और कमरों के बारे में सत्यापन के पत्र भी जिला शिक्षा पदाधिकारी को चला जाएगा।

आज मोर्चा के प्रतिनिधियों ने शिक्षा सचिव से सारे बिंदुओं पर वार्ता किए हैं । विस्तृत जानकारी बाद में भेजी जाएगी। यह जानकारी मनीष कुमार, अरविंद सिंह ,संजय कुमार, नरोत्तम सिंह ,हरिहर प्रसाद कुशवाहा ,चंद्रेश्वर पाठक सहित अन्य ने दी।

खुशखबरी

बड़ी खबर : झारखंड में 26,001 शिक्षण पदों में से 20,748 स्थानीय निवासियों के लिए आरक्षित हैं और 5,253 नहीं हैं।

x

Leave a Comment