Search
Close this search box.

लोहरदगा : रेलवे फाटक को खोलने की मांग को लेकर सांसद, मंत्री सह विधायक एवं डीआरएम से मुलाकात

लातेहार : रेलवे फाटक को खोलने की मांग को लेकर सांसद, मंत्री सह विधायक एवं डीआरएम से मुलाकात

Join Us On

लोहरदगा : रेलवे फाटक को खोलने की मांग को लेकर सांसद, मंत्री सह विधायक एवं डीआरएम से मुलाकात

लोहरदगा : रेलवे फाटक को खोलने की मांग को लेकर सांसद, मंत्री सह विधायक एवं डीआरएम से मुलाकात

लोहरदगा : के कुटमू गांव के समीप रेल फाटक को अविलंब खोलने की मांग को लेकर कूटमू फेकवा टोली एवं शांति नगर के स्थानीय निवासियों का एक शिष्टमंडल सांसद सुदर्शन भगत के रांची आवास पर जाकर मुलाकात की और कुटमू रेलवे फाटक को जनहित में खोलने की गुहार लगाई ।

मंडल का नेतृत्व कर रहे हैं रिटायर्ड सब इंस्पेक्टर सह समाजसेवी विवेकानंद उरांव ने सांसद महोदय को बताया कि तकरीबन डेढ़ वर्ष पूर्व रेलवे फाटक के बंद होने से समीपवर्ती मोहल्लों एवं ग्राम वासियों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

जनजातीय किसान, स्थानीय मजदूर के सामने भुखमरी की समस्या आ गई है। छोटे-मोटे दुकानदारों का रोजगार बाधित हो गया है। इसके अलावा इस मार्ग पर लिवेंस एकेडमी एवं शांति आश्रम गुरुकुल विद्यालय में पढ़ने जाने वाले बच्चों की संख्या काफी है अधिकांश बच्चे इसी मार्ग से आना-जाना करते थे । किसानों को खेती-बाड़ी करने के लिए दस कदम की दूरी को तय के लिए दो किलोमीटर का सफर तय करना पड़ता है।

तीन प्रखंडो के आवागमन का मुख्य साधन है यह फाटक

लोहरदगा से लातेहार जुड़ने के साथ ही तीन प्रखंड मुख्यालय को जोड़ने वाला इस मुख्य मार्ग के बंद होने से स्थानीय नागरिक उपेक्षा का शिकार हो गए हैं।

स्थानीय सांसद सुदर्शन भगत से मांग की गई कि किसको -रिचूघुटा लातेहार मुख्य पथ पर कुटमु फेकवा टोली के समीप आर एल 44 मानव सहित रेलवे क्रॉसिंग पर सब पे (अंडर पास) निर्माण कराया जाय।

सांसद ने लिया संज्ञान ,डीआरएम रांची से की बात

तमाम बातों को सुनने के बाद त्वरित पहल करते हुए सांसद ने मोबाइल के माध्यम से रेलवे के डीआरएम रांची से बात किया और शिष्टमंडल को अपराहन तीन बजे हटिया में डीआरएम से मुलाकात का समय निर्धारित कराया।

वित्त मंत्री से भी शिष्टमण्डल ने की मुलाकात

स्थानीय निवासियों के शिष्टमंडल की अगुवाई कर रहे समाजसेवी विवेकानंद उरांव, पूर्व वार्ड पार्षद कमला देवी, चंद्रिका यादव ,उषा भगत, सुनीता कच्छप, सकलू उरांव, ज्योति देवी, सुशीला देवी, शांति देवी, सरिता देवी, जीतराम उरांव आदि ने वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव से भी मिलकर अपने हितों की रक्षा की गुहार लगाई और बताया कि किसको रिचुघुटा मुख्य पथ पर कुटमू फेकवा टोली के समीप रेलवे फाटक की व्यवस्था की गई थी ।

जिसमें प्रतिदिन हजारों ग्रामीण स्कूलीछात्र,छात्राएं ,गरीब ,मजदूर ,जनजाति किसान अपने रोजमर्रा का कार्य करते थे परंतु अचानक फाटक बंद करके एक किलोमीटर दूर पर रेलवे के द्वारा अंडर पास का निर्माण कराया गया एवं कचहरी मोड़ के समीप इसे मिला दिया गया। फलस्वरूप आए दिन गाड़ियों की लंबी कतारें ,अनावश्यक जाम का सामना स्थानीय निवासियों के साथ-साथ जनसाधारण को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जनहित में पूर्व की भांति इस पथ पर आवागमन चालू किया जाए।

अंत में शिष्टमंडल ने रेलवे डीआरएम ऑफिस पहुंचकर बंद फाटक को खोलने की मांग किया। इसके अलावा मांगों से संबंधित ज्ञापन की प्रति मुख्यमंत्री आवास स्थित सचिवालय एवं आयुक्त दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल, रांची को भी दी गई है। लोहरदगा

बड़ी खबर : झारखंड कैबिनेट का फैसला : अब सिपाही सीधे नहीं बन सकेंगे दारोगा, कई नियमावली में फेरबदल

x

Leave a Comment