Search
Close this search box.

शिक्षक नियुक्ति : झारखंड से मैट्रिक और इंटर पास व स्थानीय रीति रिवाज सहित ये नियमावली में हुआ बदलाव

हाईस्कूलों में नवनियुक्त शिक्षकों को मुख्यमंत्री इस दिन सौपेंगे नियुक्ति पत्र

Join Us On

शिक्षक नियुक्ति : झारखंड से मैट्रिक और इंटर पास व स्थानीय रीति रिवाज सहित ये नियमावली में हुआ बदलाव

शिक्षक नियुक्ति : झारखंड से मैट्रिक और इंटर पास व स्थानीय रीति रिवाज सहित ये नियमावली में हुआ बदलाव

झारखंड में 50 हज़ार शिक्षकों की नियुक्ति होने वाली है। उसके सहायक आचार्य नियमावली में पुनः संशोधन किया गया है। जिसकी अधिसूचना मंगलवार को शिक्षा सचिव ने जारी की है। जारी अधिसूचना के मुताबिक झारखंड से मैट्रिक और इंटर पास वाले अभ्यर्थी झारखंड के इस शिक्षक बहाली प्रक्रिया में बदलाव किया गया है। इसके अलावा यहां के स्थानीय रीति रिवाज ,भाषा एवं परिवेश का भी ज्ञान होना की अनिवार्यता में भी बदलाव किया गया है। यह प्रावधान नियमावली के नियम तीन (च) में संशोधन की गई है।

नियमावली के नियम-3 (च) (i) (अ) में निम्नांकित प्रावधान है : न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ +2 उत्तीर्ण या उच्चतर माध्यमिक अथवा इसके समकक्ष तथा प्रारंभिक शिक्षा में द्विवर्षीय डिप्लोमा (चाहे उसे कोई भी
नाम दिया गया हो) या बीएड या 4 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स के अलावा झारखण्ड सरकार द्वारा कक्षा 1 से 5 के लिये आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा जेटेट में उत्तीर्ण होना जरूरी है।

वहीं 6 to 8 के लिए आहर्ता के नियमावली के नियम-3 (च) (ii) में उपरोक्त प्रावधान के अनुरूप ही होगा। इसके अलावा झारखण्ड सरकार द्वारा कक्षा 6 से 8 के लिये आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेटेट) में उत्तीर्ण होना जरूरी है।

वेतनमान लेवल (5 ) : (28,200 + सरकार द्वारा अनुमान अन्य कहीं )
उपरोक्त नियमावली के वेतनमान लेवल-5 में अंकित 28200/- को अब 29200 से प्रतिस्थापित की गई है।

शिक्षकों की नियुक्ति लिए अब राज्यस्तर पर तैयार होगा मेरिट लिस्ट

झारखंड में प्राथमिक व मध्य विद्यालय के शिक्षकों की नियुक्ति लिए अब राज्यस्तर पर ही मेरिट लिस्ट तैयार की जायेगी। नियमावली में किये गये बदलाव में कहा गया है कि अभ्यर्थी जिस विषय विषय समूह से शिक्षक पात्रता उत्तीर्ण होगे । उसी विषय समूह में सहायक आचार्य के नियुक्ति पात्र होने जिले के लिए अधिसूचित जातीय , क्षेत्रीय भाषा से शिक्षक परीक्षा उत्तीर्ण होने पर ही उस जिला विशेष के लिए नियुक्ति के योग्य होंगे। अब प्रावधान में कहा गया है कि अभ्यर्थी जिस विषय समूह में शिक्षक पात्रता उत्तीर्ण होंगे, उसी विषय विषय समूह में राज्यस्तरीय मेंरिट लिस्ट के आधार पर होगा।

सिर्फ पारा शिक्षकों को ही मिलेगा 50 प्रतिशत आरक्षण

प्राथमिक व मध्य विद्यालय में 50% आरक्षित सीट के आरक्षण में भी बदलाव की गई है। पूर्व के नियमावली के प्रावधान के अनुरूप सहायक आचार्य नियुक्ति में 50 % पद केंद्र और राज्य प्रायोजित
शैक्षणिक योजना अंतर्गत झारखंड सरकार के नियंत्रणाधीन संविदाकर्मियों के लिए आरक्षित किया गया था। इसमें अब बदलाव किया गया है के अनुरूप अब यह आरक्षण के सिर्फ सहायक अध्यापक (पारा शिक्षक) को मिलेगा। वैसे शिक्षक जिनकी सेवा विज्ञापन जारी करने की तिथि तक लगातार दो वर्ष की हो जायेंगी आवेदन जमा कर पाएंगे। यानी कि 58 वर्ष के उम्र तक सहायक अध्यापक सहायक शिक्षक बन सकेंगे ।

इस वर्ष तय भाषा के अनुरूप होगी नियुक्ति

कक्षा 6 से 8 में भाषा शिक्षकों की नियुक्ति इस वर्ष मार्च में राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित भाषा के अनुरूप होगी । अंग्रेजी व हिंदी के अलावा राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित भाषा में से किसी भी भाषा में स्नातक के रूप में उत्तीर्ण अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

कक्षा एक से पांच में अब 400 अंकों की होगी परीक्षा

शिक्षक नियुक्ति के पूर्व निर्धारित परीक्षा के अंक में भी बदलाव किया गया गया है। कक्षा एक से पांच तक में शिक्षक नियुक्ति के लिए पूर्व में 250 अंको की परीक्षा को बढ़ाकर 300 कर दिया गया है। उसी प्रकार से आठ तक की परीक्षा 350 की जगह अब 400 की हो गयी। इसके अलावा विषयवार पास करने के प्रावधान में भी आंशिक बदलाव किया गया है।

बड़ी खबर :झारखंड पोस्ट ऑफिस में विभिन्न पदों के लिए आवेदन शुरू, दसवीं पास के लिए नौकरी का सुनहरा अवसर

x

Leave a Comment