JSSC Excise Constable Bharti 2023: झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 को लेकर परीक्षा का पैटर्न जारी , इन विषयों से पूछे जाएंगे प्रश्न

JSSC Excise Constable Bharti 2023: झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 को लेकर परीक्षा का पैटर्न जारी , इन विषयों से पूछे जाएंगे प्रश्न

Join Us On

JSSC Excise Constable Bharti 2023: झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 को लेकर परीक्षा का पैटर्न जारी , इन विषयों से पूछे जाएंगे प्रश्न

JSSC Excise Constable Bharti 2023: झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 को लेकर परीक्षा का पैटर्न जारी , इन विषयों से पूछे जाएंगे प्रश्न

राँची : झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 का नोटिफिकेशन JSSC ने जारी कर दी है। जिसमें दसवीं पास 18 वर्ष के उम्र वाले भी आवेदन कर सकते हैं। झारखंड में उत्पाद सिपाही के कुल 583 पदों के लिए भर्ती निकली है। ऑनलाइन आवेदन आयोग के वेबसाइट www.jssc.nic.in पर लॉगिन कर समर्पित कर सकते हैं। 1 जून से ऑनलाइन आवेदन भरा जाएगा।

आइए जानते हैं क्या होगा का पैटर्न

झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती 2023 परीक्षा तीन चरणों मे समपन्न होगा। पहले चरण में शारीरिक दक्षता परीक्षण , दूसरे चरण में लिखित परीक्षा और तीसरे चरण में चिकित्सीय जाँच होगा।

शारीरिक दक्षता परीक्षा में सफल होना अनिवार्य

शारीरिक दक्षता परीक्षण झारखण्ड राज्य पुलिस नियुक्ति नियमावली ( पुलिस सेवा के लिए भर्ती पद्धति) 2014 में वर्णित प्रावधान (अद्यतन यथा संशोधित एवं समय-समय पर संशोधित) के अनुसार अधिसूचित चयन पर्षद द्वारा अभ्यर्थियों की शारीरिक दक्षता परीक्षण ली जायेगी । जिसमें सफल होना अनिवार्य होगा। शारीरिक दक्षता परीक्षण अर्हक (Qualifying) परीक्षा है, जिसमें कोई अंक देय नहीं होगा। चयन पर्षद शारीरिक माप एवं शारीरिक योग्यता में योग्य तथा अयोग्य अभ्यर्थियों की सूची आयोग को उपलब्ध करायेगा ।

शारीरिक दक्षता परीक्षण :

मात्र पुरुष अभ्यर्थियों के सीने की माप का जाँच किया जायेगा। अभ्यर्थियों की शारीरिक माप विवरणिका की कंडिका-06 के अनुरूप होगी।

दौड़: (क) पुरूषों के लिए 10 कि0 मी0 60 मिनट में।

(ख) महिलाओं के लिए 05 कि0 मी0 40 मिनट में।

 

शारीरिक दक्षता पास होने पर दे पाएंगे लिखित परीक्षा

लिखित परीक्षा शारीरिक दक्षता परीक्षण में सफल अभ्यर्थियों की ओ. एम. आर. (OMR) आधारित लिखित परीक्षा ली जाएगी। लिखित परीक्षा यदि विभिन्न समूहों में लिया जाता है तो अभ्यर्थियों के प्राप्तांक का Normalisation किया जाएगा। अभ्यर्थियों की मेघासूची उनके प्राप्तांक के Normalised अंक के आधार पर तैयार किया जाएगा तथा परीक्षाफल प्रकाशन के पश्चात् उन्हें Normalised अंक ही दिया जाएगा। उत्पाद सिपाही के पद पर नियुक्ति हेतु गठित मेधासूची में स्थान पाने के लिए अभ्यर्थियों को लिखित परीक्षा में आरक्षण कोटिवार निर्धारित न्यूनतम अहर्ताक [ यथा विवरणिका की कंडिका 17 (iv) प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

लिखित परीक्षा में होंगे तीन पत्र , दो दो घण्टे की होगी परीक्षा, एक प्रश्न 3 अंक का

लिखित परीक्षा में निम्नलिखित तीन पत्र होंगे। प्रत्येक पत्र की परीक्षा की अवधि दो घंटे की होगी। तीनों ही पत्रों के प्रत्येक प्रश्न तीन अंक के होंगे। सही उत्तर के लिए तीन अंक प्रदान किये जायेंगे एवं प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक अंक की कटौती की जाएगी। तीनों पत्रों के सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ एवं बहुविकल्पीय उत्तर आधारित होंगे।

पत्र 1 – विषय: (भाषा ज्ञान) :

(क) हिन्दी भाषा का ज्ञान : 80 प्रश्न

(ख) अंग्रेजी भाषा का ज्ञान : 40 प्रश्न

कुल : 120 प्रश्न

इस परीक्षा में उर्त्तीण होने के लिए 30 प्रतिशत न्यूनतम अर्हतांक निर्धारित रहेगा। न्यूनतम अर्हतांक से कम अंक प्राप्त करने वाले अभ्यर्थी नियुक्ति के लिए चयन हेतु असफल / अयोग्य माने जाएंगे। प्राप्त अंक मेधा निर्धारण के लिए नहीं जोड़ा जायेगा ।

पत्र 2 : (क्षेत्रीय / जनजातीय भाषा ज्ञान )

हिन्दी / अंग्रेजी / संस्कृत / उर्दु / संथाली / बंगला / मुण्डारी (मुण्डा) / हो / खड़िया / कुडुख ( उराँव) / कुरमाली / खोरठा / नागपुरी / पंचपरगनीया / उड़िया में से किसी एक भाषा की परीक्षा विकल्प के आधार पर अभ्यर्थी दे सकेंगे। इस परीक्षा में संबंधित भाषा के एक सौ (100) बहुविकल्पीय उत्तर आधारित प्रश्न पूछे जायेगे ।

नोट पत्र 02 में 30 प्रतिशत न्यूनतम अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

(III) पत्र :- 3

इस पत्र में पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या 120 (एक सौ बीस ) होगी एवं विषय तथा प्रश्नों की संख्या अधोलिखित होगी:

सामान्य अध्ययन : 40
झारखण्ड राज्य से संबंधित ज्ञान : 50
सामान्य विज्ञान : 20
सामान्य गणित : 10

इन विषयों में किस तरह और कहाँ से प्रश्न पूछे जाएंगे उसकी जानकारी नीचे दी गई है।

03 में 30 प्रतिशत न्यूनतम अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

: प्रत्येक पत्र की परीक्षा की अवधि दो घंटे की होगी।

मुख्य परीक्षा का पाठ्यक्रम

(1) पत्र-1 (भाषा ज्ञान)

(क) हिन्दी भाषा ज्ञान :-

i) हिन्दी अनुच्छेद पर आधारित प्रश्न : 20 प्रश्न

(ii) हिन्दी व्याकरण पर आधारित प्रश्न : 60 प्रश्न

इस विषय में हिन्दी अपठित अनुच्छेद (Unseen Passage ) तथा हिन्दी व्याकरण पर आधारित प्रश्न रहेंगे।

(ख) अंग्रेजी भाषा ज्ञान :

अंग्रेजी अनुच्छेद पर आधारित प्रश्न : 20 प्रश्न

और अंग्रेजी व्याकरण पर आधारित प्रश्न : 20 प्रश्न

इस विषय में अंग्रेजी अपठित अनुच्छेद (Unseen Passage) तथा अंग्रेजी व्याकरण पर आधारित प्रश्न रहेंगे।

पत्र – 2 (क्षेत्रीय / जनजातीय भाषा ज्ञान )

क्षेत्रीय / जनजातीय भाषा ज्ञान का पाठ्यक्रम परिशिष्ट – XIII के रूप में विवरणिका के साथ संलग्न है।

क) सामान्य अध्ययनः इसमें प्रश्नों का उद्देश्य अभ्यर्थी के आस-पास के वातावरण की सामान्य जानकारी तथा समाज में उनके अनुप्रयोग के संबंध में उसकी योग्यता की जाँच करना होगा। वर्तमान घटनाओं और दिन-प्रतिदिन की घटनाओं के सूक्ष्म अवलोकन तथा उनके प्रति वैज्ञानिक दृष्टिकोण जैसे मामलों की जानकारी जैसा कि किसी भी शिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जाती है। इसमें भारत देश एवं झारखण्ड राज्य के संबंध में विशेष रूप से यथा संभव प्रश्न पूछे जा सकते हैं। सम-सामयिक विषय- राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय पुरस्कार, भारतीय भाषाऐं, पुस्तक, लिपि, राजधानी, मुद्रा, खेल-खिलाड़ी महत्वपूर्ण घटनाऐं।

भारत का इतिहास, संस्कृति, भूगोल, पर्यावरण, स्वतंत्रता आंदोलन भारतीय कृषि तथा प्राकृतिक संसाधनों की प्रमुख विशेषताएँ एवं भारत का संविधान एवं राज्य व्यवस्था, पंचायती राज सामुदायिक विकास, झारखण्ड राज्य की सामान्य जानकारी।

(ख) झारखण्ड राज्य से संबंधित ज्ञान: झारखण्ड राज्य के भूगोल, इतिहास, सभ्यता संस्कृति, भाषा-साहित्य, स्थान, खान खनिज, उद्योग, राष्ट्रीय आंदोलन में झारखण्ड का योगदान, विकास योजनाएँ, खेल-खिलाड़ी इत्यादि ।

(ग) सामान्य विज्ञान :- सामान्य विज्ञान के प्रश्न में दिन-प्रतिदिन के अवलोकन एवं अनुभव पर आधारित विज्ञान की सामान्य समझ एवं परिबोध से संबंधित विषय रहेंगें, जैसा कि एक सुशिक्षित व्यक्ति से जिसने किसी विज्ञान विषय का विशेष अध्ययन नहीं किया हो, अपेक्षित है।

(घ) सामान्य गणित :- इस विषय में सामान्यतः अंक गणित से सम्बन्धित प्रश्न रहेंगे। सामान्यतः इसमें मैट्रिक / दसवीं कक्षा स्तर के प्रश्न रहेंगे ।

तीन गुणा अभ्यर्थियों का चयन चिकित्सीय जाँच के लिए किया जायेगा

चिकित्सीय जाँच मेधासूची में उपलब्ध अभर्थयों को मेधाक्रमानुसार आरक्षण – कोटिवार रिक्तियों की संख्या के तीन गुणा अभ्यर्थियों का चयन चिकित्सीय जाँच के लिए किया जायेगा। चिकित्सीय जाँच झारखण्ड राज्य पुलिस नियुक्ति नियमावली ( पुलिस सेवा के लिए भर्ती पद्धति) 2014 में वर्णित प्रावधान (अद्यतन यथा संशोधित एवं समय-समय पर संशोधित) के अनुसार अधिसूचित चयन पर्षद द्वारा की जायेगी। चयन पर्षद के निर्णय के विरूद्ध अपील के लिए Apex Medical Board गठित किया जायेगा। चिकित्सीय परीक्षण के सम्बन्ध में Apex Medical Board का निर्णय अंतिम होगा । चिकित्सीय जाँच में योग्य एवं अयोग्य अभ्यर्थियों की सूची आयोग को चयन पर्षद द्वारा उपलब्ध कराई जायेगी ।

नोट : चिकित्सीय जाँच उपरान्त प्रमाण पत्रों का सत्यापन आयोग द्वारा करते हुए परीक्षाफल प्रकाशित किया जायेगा। इस क्रम में पद रिक्त रह जाने की स्थिति में आयोग पुनः अपेक्षित संख्या में लिखित परीक्षा के मेघाक्रम में नीचे के अभ्यर्थियों की सूची चिकित्सीय जाँच परीक्षा के आयोजन हेतु चयन पर्षद को उपलब्ध करायेगा ।

चिकित्सीय जाँच :- लिखित परीक्षा में उतीर्ण अभ्यर्थियों का चिकित्सीय जाँच जिला के असैनिक शल्य चिकित्सक-सह- मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी की अध्यक्षता अथवा उनके द्वारा गठित चिकित्सीय पर्षद द्वारा किया 18/45 परीक्षण में सफल होना आवश्यक है अन्यथा चयन हेतु मेधा सूची में शामिल नहीं किया जाएगा।

अन्यथा चयन हेतु मेधा सूची में शामिल नहीं किया जाएगा।

अभ्यर्थियों के शारीरिक बनावट में मुड़ा घुटना, धनु पैर, समतल पैर, स्पीत शिरा, ऊँगलियों का उचित ढंग से नहीं घुमना, दृष्टिदोष, कलर ब्लाईंडनेश (Colour Blindness) / रतौंधी ( Night Blindness), Hearing, Stammering, Bericocele Hydrocele/ Piles 3 Any Communicable Physical/ Mental Disease आदि की चिकित्सीय परीक्षण की जायेगी।

दसवीं पास के लिए झारखंड में निकली बम्पर सरकारी भर्ती : झारखंड उत्पाद सिपाही भर्ती का नोटिफिकेशन अभी अभी हुआ जारी

बड़ी खबर : झारखंड सरकार का बड़ा फैसला : आजादी के बाद खुले कई स्कूलों का नाम बदला , विभाग ने जारी की लिस्ट

x

Leave a Comment