Search
Close this search box.

पहली बार गर्मी में 2 बजे तक सरकारी स्कूल, स्कूली बच्चों का लगातार बिगड़ रहा तबियत

पहली बार गर्मी में 2 बजे तक सरकारी स्कूल, स्कूली बच्चों का लगातार बिगड़ रहा तबियत

Join Us On

पहली बार गर्मी में 2 बजे तक सरकारी स्कूल, स्कूली बच्चों का लगातार बिगड़ रहा तबियत

पहली बार गर्मी में 2 बजे तक सरकारी स्कूल, स्कूली बच्चों का लगातार बिगड़ रहा तबियत




पूरे पूरे देश भर में झारखंड ही ऐसा राज्य होगा जहां झारखंड अलग होने के बाद पहली बार स्कूल मॉर्निंग होते हुए भी डे टाइम में छुट्टी हो रही है। अब तक अप्रैल और मई तक स्कूलों का समय साढ़े इग्यारह बजे तक कि
चलता था और पर इस वर्ष पहली बार आदर्श दिनचर्या के तहत स्कूलों के समय को सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक विभागीय निर्देश पर किया गया है। विभागीय निर्देश के अनुसार सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक क्लास चल रहा है और 1 से 2 तक बच्चो को खेलाने का निर्देश दिया गया है। जिसका असर अब बच्चो पर पड़ पड़ने लगा है।




गर्मी के कारण बच्चों का बिगड़ रहा तबियत, 

दोपहर की तपती गर्मी और लू का असर अब बच्चों और शिक्षकों पर भी पड़ने लगा है। बच्चों के साथ साथ शिक्षकों की भी तबियत बिगड़ने लगी है। बुधवार को भी कई स्कूलो के बच्चों की तबियत अचानक बिगड़ गया और स्कूल में ही बेहोश हो गए।

गर्मी के कारण गिरीडीह जिले के डुमरी प्रखण्ड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय तेलखारा में पढ़ने वाली कक्षा दो की छात्रा डोली कुमारी गर्मी से बेहोश होकर स्कूल में ही गिर गई और नाक से खून निकलने लगा। जिसे शिक्षकों ने पानी डाल कर होश में लाया और घर पहुंचाया।



वहीं जामताड़ा जिले के मिहिजाम अंचल के स्कूल का एक विद्यार्थी बेहोश हो गया।

वहीँ सोमवार को भी चिलचिलाती धूप व भीषण गर्मी की वजह से जामताड़ा जिले के फतेहपुर प्रखंड अंतर्गत गेड़िया शैक्षणिक अंचल के धधकिया उत्क्रमित मध्य विद्यालय की कक्षा पांच की छात्रा प्रीति कुमारी अचानक बेहोश हो गई।

उसे गर्मी व उमस से लगातार उल्टियां शुरू हो गई। मौके पर विद्यालय के शिक्षकों ने उसके चेहरे पर पानी का छींटा मारकर उसे होश में लाया।




विद्यालय के प्रधानाध्यापक सह सचिव सोमनाथ गण के द्वारा प्राथमिक उपचार कर विद्यालय के सहायक अध्यापक संजय महतो के सहयोग से छात्रा को घर ले गए।

इस संबंध में विद्यालय के प्रधानाध्यापक सोमनाथ गण ने कहा कि तेज धूप के कारण छात्रा उल्टी करते हुए बेहोश हो गई थी। छात्रा को होश में लाकर उसके घर सुरक्षित शिक्षकों द्वारा पहुंचा दिया गया

इधर सहायक अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष सुभाष मिर्धा ने कहा कि स्कूल की नई समय सारणी के मुताबिक विद्यालय संचालन से छात्रों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।




इस तपती धूप में छात्र हित को ध्यान में रखकर सूबे के मुख्यमंत्री पुरानी समय सारणी साढ़े छह से साढ़े ग्यारह पर विद्यालय संचालन करने का आदेश अतिशीघ्र निर्गत करें। ताकि बच्चों को लू से बचाया जा सके। पहली बार गर्मी में 2 बजे

बड़ी खबर : बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2023 महत्वपूर्ण सूचना : 24 अप्रैल को नहीं होगा एंट्रेंस एग्जाम , JCECEB ने जारी किया नया डेट




x

Leave a Comment