मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अंकित पर बरसने लगी कृपा ,सपने को मिला पंख

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अंकित पर बरसने लगी कृपा ,सपने को मिला पंख

Join Us On

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अंकित पर बरसने लगी कृपा ,सपने को मिला पंख

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अंकित पर बरसने लगी कृपा ,सपने को मिला पंख

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद उपायुक्त बोकारो द्वारा अंकित का नामांकन कोचिंग संस्थान में करा दिया गया। यही नहीं अंकित को पाठ्य सामग्री भी उपलब्ध कराई गई। अब उसके पढ़ाई में कोई रोड़ा नहीं है।




वहीं दूसरी ओर, अंकित की माता बिराजू देवी को डा. भीम राव अंबेडकर आवास स्वीकृत कर दिया है। प्रखंड कार्यालय द्वारा उन्हें आवास स्वीकृति का पत्र भी उपलब्ध करा दिया गया है, अब वह स्वयं सरकार से प्राप्त राशि का इस्तेमाल कर अपना आवास निर्माण करा सकती है।

यह था मामला

मुख्यमंत्री को जानकारी मिली कि बोकारो निवासी अंकित कुमार ने मैट्रिक परीक्षा 2022 में करीब 96 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से वह आगे की पढ़ाई करने में असमर्थ है। अंकित के पिता शारीरिक रूप से कमजोर हैं और मजदूरी करने वाली मां का वाहन दुर्घटना में हाथ -पैर टूट गया था, जिससे पूरे परिवार को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है।




उपरोक्त मामले कि जानकारी के बाद मुख्यमंत्री ने उपायुक्त बोकारो को मामले की जांच कर अंकित की पढ़ाई हेतु हरसंभव सरकारी सहायता पहुंचाने एवं अंकित के परिवार को जरूरी सभी योजनाओं से जोड़ते हुए भी सूचित करने का आदेश दिया था।




मुख्यमंत्री के आदेश से बरसी कृपा, सपने को मिला पंख

अंकित, अब आप खूब मन लगाकर पढ़ो और खूब आगे बढ़ो। मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं। मैंने पहले भी कहा है हमारी सरकार में गरीबी को कभी किसी बच्चे की पढ़ाई में रुकावट का कारण बनने नहीं दिया जायेगा। इसलिए आज प्री और पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप में भी 2-3 गुना वृद्धि कर झारखण्ड के लाखों बच्चों को लाभ दिया जा रहा है। शिक्षा के हर स्तर पर विभिन्न योजनाओं को राज्य सरकार द्वारा शुरू किया गया है।




बड़ी ख़बर : Jharkhand Bed Admission 2023-25: Application Form, Date, Fee




x

Leave a Comment