Search
Close this search box.

सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मियो को लेकर विभाग ने जारी की महत्वपूर्ण निर्देश

Join Us On

सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मियो को लेकर विभाग ने जारी की महत्वपूर्ण निर्देश

<script async src=




सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मियो को लेकर विभाग ने जारी की महत्वपूर्ण निर्देश” width=”700″ height=”400″ />

झारखंड के सरकारी स्कूलों में कार्यरत शिक्षकेतर कर्मचारियों को लेकर विभाग ने महत्वपूर्ण निर्देश जारी की है। स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने सभी जिलों के शिक्षकेतर कर्मचारियों को भी ऑनलाइन हाजिरी बनाने का निर्देश दिया है।




इसे लेकर जिलों के माध्यम से स्कूलों को ई विद्या वाहिनी पोर्टल पर शिक्षकेतर कर्मचारियों की जानकारी अपलोड करने को कहा जा रहा है।

मार्च से ऑनलाइन आधार पर होगा मानदेय भुगतान

राज्य के सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को जनवरी 2023 से ही ऑनलाइन हाजिरी बनाने पर ही वेतन का भुगतान हो रहा है । अब स्कूलों में शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मचारियों के साथ-साथ गैर शैक्षणिक कार्यरत कर्मियों को मार्च महीने के मानदेय का भुगतान ऑनलाइन हाजिरी के आधार पर करने का निर्देश दिया गया है।

शिक्षकेतर और गैर शैक्षणिक पदों पर कार्यरत सभी कर्मियों के लिए मार्च से इसे अनिवार्य किया गया है। सभी स्कूलों को अपने ऐसे कर्मियों की जानकारी ई विद्या वाहिनी पोर्टल और एप पर देनी होगी। इन कर्मियों की ई-विद्या वाहिनी पर आईडी भी बनानी होगी। इस पोर्टल व एप पर वे ऑनलाइन हाजिरी बना पाएंगे। अगर इन्हें छुट्टी भी लेना होगा तो ऑनलाइन मैनेजमेंट से ही लेना पड़ेगा।




पोर्टल में संबंधित कर्मी का नाम, जेंडर , मोबाइल नंबर , आधार नंबर , नियुक्ति की प्रकृति , नियुक्ति की तिथि,जन्म तिथि, सोशल कैटेगरी, जिला, प्रखंड, संकुल, स्कूल के यू-डाइस कोड, स्कूल का नाम, नियुक्ति का प्राधिकार प दिव्यांगता (अगर हो तो), गृह जिला , गृह प्रखंड, स्थानीय पता, कंप्यूटर ट्रेनिंग से लेकर अन्य जानकारियां उपलब्ध करानी पड़ेगी।




जहां इंटरनेट कनेक्टिविटी नहीं है वहीं सिर्फ ऑफलाइन हाजिरी बना रहे हैं। सिर्फ इन्हें ही ऑफलाइन हाजरी बनाने की छूट दी गई है।

बड़ी खबर: झारखंड में सरकारी स्कूल के सभी बच्चों को इसी महीने छात्रवृत्ति मिलेगी





Home



x

Leave a Comment