Search
Close this search box.

स्कूलों में पहली से पांचवी तक पहली बार बांग्ला और उड़िया भाषा के साथ इन भाषाओं की भी पढ़ाई

Join Us On

स्कूलों में पहली से पांचवी तक पहली बार बांग्ला और उड़िया भाषा के साथ इन भाषाओं की भी पढ़ाई

स्कूलों में पहली से पांचवी तक पहली बार बांग्ला और उड़िया भाषा के साथ इन भाषाओं की भी पढ़ाई






नए वितीय वर्ष में स्कूलों में पहली से पांचवी तक पहली बार बांग्ला और उड़िया भाषा के साथ कई अन्य स्थानीय भाषाओं की भी पढ़ाई होगी।स्कूलों में मुंडारी, कुड़ुख, हो, खड़िया और संताली भाषाओं की भी पढ़ाई होगी। इन विषयों के भी शिक्षक नियुक्त किए जाएंगे। स्कूली बच्चे मातृभाषा में पढ़ाई कर सकें, इसकी भी व्यवस्था सुनिश्चित होगी ।




नेतरहाट के तर्ज पर खुलेगे तीन और आवासीय विद्यालय

राज्य सरकार ने 2023-24 के बजट में झारखंड में नेतरहाट आवासीय विद्यालय के तर्ज पर तीन और स्कूल खोलने का प्रावधान किया गया है। ये आवासीय स्कूल चाईबासा, दुमका व बोकारो में होंगे। इसमें छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों के लिए आवासीय व्यवस्था भी की जाएगी।




4091 ग्राम पंचायत स्तरीय आदर्श विद्यालयों पर भी हो रहा कार्य

वहीं अगले वित्तीय वर्ष में राज्य की सभी पंचायतों को जीरो ड्रॉप आउट पंचायत भी घोषित करने का लक्ष्य रखा गया है। वर्तमान में 1828 पंचायत जीरो ड्रॉप आउट घोषित हो चुके हैं। राज्य के वैसे सभी सरकारी स्कूल जहां छात्राओं व छात्रों के लिए अलग-अलग शौचालय नहीं है, वहां उनके लिए अलग-अलग शौचालय निर्माण किया जाएगा। साथ ही, उसके नियमित रख-रखाव करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।




नए वित्तीय वर्ष में 80 उत्कृष्ट विद्यालय की शुरुआत होने जा रही है। साथ ही, 325 प्रखंड स्तरीय लीडर स्कूल के साथ-साथ 4091 ग्राम पंचायत स्तरीय आदर्श विद्यालयों पर भी कार्य किया जा रहा है। सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा का सर्वव्यापीकरण व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की सुनिश्चितता को अपनी प्राथमिकता में रखा है।

राज्य में खुलेंगे छह पॉलिटेक्निक कॉलेज




नए वितीय वर्ष में झारखंड में छह पॉलिटेक्निक संस्थानों का निर्माण किया जाएगा। राज्य की तकनीकी शिक्षा में नामांकन के अनुपात में वृद्धि के लिए बरही, बुंडू, पतरातू, चाईबासा, जमशेदपुर और खूंटी की नॉलेज सिटी में नए पॉलिटेक्निक खोले जाने का प्रस्ताव ली गई है।

वहीं नव निर्मित आठ पॉलिटेक्निक में नए सत्र से पढ़ाई शुरू कर दी जाएगी। राज्य सरकार ने बजट में इसके प्रावधान किए हैं। चतरा, हजारीबाग, गोड्डा, जामताड़ा, लोहरदगा, खूंटी, बगोदर और पलामू में नव निर्मित आठ पॉलेटेक्निक संस्थानों का संचालन प्रेझा फाउंडेशन के सहयोग से अगले शैक्षणिक सत्र से चालू होगा।

छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए गुरुजी क्रेडिट कार्ड योजना




छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए गुरुजी क्रेडिट कार्ड योजना व प्रतियोगिता परीक्षा के लिए निशुल्क कोचिंग की व्यवस्था किया जाएगा । इसके लिए मुख्यमंत्री शिक्षा प्रोत्साहन योजना व एकलव्य प्रशिक्षण योजना चलायी जाएगी। इसमें राज्य के 37 हजार छात्र-छात्राओं को लाभांवित करने का लक्ष्य तय की गई है।

स्टार्टअप सेंटर की स्थापना की तैयारी

सभी राजकीय विश्वविद्यालय में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के लिए इनोवेशन कम स्टार्टअप सेंटर की भी स्थापना करने की तैयारी है। उच्च शिक्षा विभाग के द्वारा शिक्षण संस्थानों, तकनीकी संस्थानों व छात्रावासों के जीर्णोद्धार व नव निर्माण करने का निर्णय लिया है। विशेष रूप से 385 करोड़ रुपये का अलग से प्रावधान इसके लिए किया गया है।




बड़ी खबर :Jharkhand Rojgar Mela 2023 : झारखण्ड रोजगार मेला विभिन्न पदों पर नियुक्ति

Home koi




x

Leave a Comment