Search
Close this search box.

शिक्षकों को उपायुक्त ने जमकर लगाई फटकार, जो अंग्रेजी में सवाल जवाब करेंगे वही रहेंगे

शिक्षकों को उपायुक्त ने जमकर लगाई फटकार, जो अंग्रेजी में सवाल जवाब करेंगे वही रहेंगे

Join Us On

शिक्षकों को उपायुक्त ने जमकर लगाई फटकार, जो अंग्रेजी में सवाल जवाब करेंगे वही रहेंगे





शिक्षकों को उपायुक्त ने जमकर लगाई फटकार, जो अंग्रेजी में सवाल जवाब करेंगे वही रहेंगे

शिक्षकों को गोड्डा उपायुक्त जीशान कमर ने जमकर फटकार लगाई। वे बुधवार को जिले के पोड़ैयाहाट प्रखंड में विभिन्न सरकारी योजनाओं व स्कूलों का निरीक्षण किया।





उपायुक्त जीशान कमर ने इस दौरान राज्य संपोषित उच्च विद्यालय मे स्थित मॉडल स्कूल का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने मॉडल स्कूल के शिक्षकों से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के संबंध में अंग्रेजी में पूछताछ किया। उपायुक्त के सवाल का शिक्षकों ने जवाब स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया। इसके बाद उपायुक्त ने असंतोष जाहिर करते हुए शिक्षकों को जमकर फटकार लगाया और कहा कि सभी शिक्षक मेरे कार्यालय आकर मिले।




उन्होंने कहा कि मेरे कार्यालय में जो शिक्षक अंग्रेजी से पूछताछ में संतोषजनक जवाब दे पाएगे उसी शिक्षक को रखा जाएगा। जानकारी के मुताबिक मॉडल स्कूल में तकरीबन सभी विषयों की पढ़ाई अंग्रेजी में की जाती है। इसको लेकर मॉडल स्कूल में 64 छात्र-छात्रा नामांकित है। जबकि निरीक्षण के दौरान विद्यालय में मात्र 24 छात्र-छात्राएं ही विद्यालय में उपस्थित मिले।

राज्य संपोषित उच्च विद्यालय के शौचालय चापाकल का भी जायजा उपायुक्त ने लिया एवं दुरुस्त करने का निर्देश संबंधित अधिकारी को दिया।




चिल्ड्रन पार्क के लिए स्थल का मुआयना कर भेंजे प्रस्ताव

उपायुक्त जीशान कमर ने प्रखंड विकास पदाधिकारी महेश्वरी प्रसाद यादव को इंदौर स्टेडियम निरीक्षण के क्रम में कहा कि चिल्ड्रन पार्क के लिए स्थल का मुआयना कर प्रस्ताव को भेजें।

वहीं प्लस टू हाई स्कूल के चार दिवारी निर्माण का प्रस्ताव भेजेने को कहा। इसके बाद उपायुक्त ने चतरा इंजीनियरिंग कॉलेज का भी निरीक्षण किया इस दौरान उपायुक्त ने कहा कि इंजीनियरिंग कॉलेज को हैंड ओवर जल्द से जल्द कराएं।इंजीनियरिंग कॉलेज तक आने जाने के लिए सड़क संबंधित प्रस्ताव भी मांगा।




वहीं सकरी फुलवारी स्थित निर्माणाधीन अनाज गोदाम का भी जायजा लिया। इस बीच उपायुक्त श्री कमर ने कार्यपालक अभियंता को कड़ा दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि कार्यस्थल पर कनीय अभियंता की मौजूदगी अनिवार्य है।




कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही ना हो गुणवत्तापूर्ण कार्य में पारदर्शिता लाते हुए कार्य को समपन्न कराया जाए। नहीं तो कार्रवाई की जाएगी। जल्द से जल्द इन सभी समस्याओं का निष्पादन करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को उपायुक्त ने दी।




बड़ी खबर : CHO Jharkhand Recruitment 2023- Merit List जारी

Home




x

Leave a Comment