महंगाई से आम लोगों को राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने ये काम किया शुरू, जानें पूरा मामला

Join Us On

महंगाई से आम लोगों को राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने ये काम किया शुरू, जानें पूरा मामला

महंगाई से आम लोगों को राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने ये काम किया शुरू, जानें पूरा मामला

महंगाई से आम लोगों को राहत पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने अब कदम उठाना शुरू कर दिया है। बता दें कि केन्द्र सरकार की ओर से अब सस्ते भाव पर आटा की बिक्री शुरू कर दी गई है। जानकारी के अनुसार केंद्रीय भंडार ने गुरूवार से आटा 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बेचना शुरू कर दिया है। वहीं सहकारी संस्थाएं नेफेड और एनसीसीएफ देशभर में आगामी 6 फरवरी से समान कीमत पर आटे की बिक्री शुरू करेगी। इस संबंध में खाद्य मंत्रालय ने जानकारी साझा की है।

भारत आटा या अन्य नाम के रूप में ब्रांड करने पर सहमति

खाद्य मंत्रालय की ओर से कहा गया कि इन संस्थानों ने गेहूं के आटे को ‘भारत आटा’ या ‘कोई अन्य उपयुक्त नाम’ से इसे ब्रांड करने पर सहमति व्यक्त की गई है। इसकी अधिकतम खुदरा मूल्य 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम निर्धारित किया गया है। वहीं घरेलू बाजार में मुक्त बाजार बिक्री योजना के तहत बफर स्टॉक से 30 लाख टन गेहूं की बिक्री की प्रगति पर गुरूवार को समीक्षा बैठक हुई, जिसकी अध्यक्षता खाद्य सचिव संजीव चोपड़ा ने की।

एनसीसीएफ और नेफेड 6 फरवरी से 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम की भाव से शुरू करेंगे बिक्री

बताया गया कि एनसीसीएफ और नेफेड आगामी 6 फरवरी से 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से आटे की बिक्री शुरू करने जा रही है। इन संस्थानों द्वारा बेचे जाने वाला गेहूं के आटे का एमआरपी या अधिकतम खुदरा मूल्य निर्धारित कर लिया गया है। वर्तमान में औसत अखिल भारतीय खुदरा मूल्य 38 रुपये प्रति किलोग्राम से कम है। वहीं अनाज को आटे में बदलने और 29.50 रुपये प्रति किलो पर बेचने के लिए ओएमएसएस के तहत ई-नीलामी के बिना इन संस्थानों को लगभग तीन लाख टन गेहूं की पेशकश की जा रही है। इनमें से एक-एक लाख टन क्रमशः केंद्रीय भंडार और नेफेड को आवंटित किया जा चुका है। वहीं लगभग 50,000 टन एनसीसीएफ को आवंटित कर दिया गया है।

बड़ी खबर : गृहमंत्री अमित शाह की झारखंड यात्रा से पहले सीएम हेमंत सोरेन ने किया जोरदार हमला, कही ये बड़ी बात

Leave a Comment